संजय राउत

भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने यहां शनिवार को कहा कि अगर शिवसेना को अपने सहयोगी कांग्रेस व राकांपा के साथ नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लागू करने में समस्याओं का सामना करना पड़ा, तो वह महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ कोई भी राजनीतिक समझौता करने के लिए तैयार है।

शिवसेना नेता संजय राउत ने शनिवार को कहा कि वीर सावरकर न केवल महाराष्ट्र बल्कि देश के भी देवता हैं।

संजय राउत ने कहा कि इस देश से घुसपैठियों को बाहर निकलाना चाहिए, पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों का हनन हुआ है. जिन लाखों-करोड़ों को यहां पर ला रहे हैं, तो क्या उन्हें वोटिंग का हक मिलेगा अगर इन्हें 20-25 साल वोटिंग का हक नहीं मिलता है तो बैलेंस रहेगा।

महाराष्ट्र में एनसीपी, कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार चला रही शिवसेना ने विवादास्पद नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी) का समर्थन करने का फैसला किया है। जबकि कांग्रेस ने पहले ही इस विधेयक को 'असंवैधानिक' करार दिया है।

संजय राउत बोले कि शिवसेना पहले से ही ये बात कहती आ रही है कि घुसपैठियों को बाहर निकालना चाहिए, पाकिस्तान-बांग्लादेश-अफगानिस्तान से जो हिंदू-सिख-बौद्ध-जैन आ रहे हैं उनके मसले पर वह केंद्र सरकार के साथ है।

बता दें कि महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के दौरान फडणवीस ने दावा किया था कि राज्य में विरोधी पक्ष नहीं रहेगा। वहीं, विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में शिवसेना के नेतृत्व में सरकार बन गई है और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस अब विरोधी दल के नेता चुने गए हैं।

महाराष्ट्र में सरकार बदल गई है और अब राज्य में ठाकरे राज की शुरुआत हो रही है। उद्धव ठाकरे गुरुवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं, इस बीच संजय राउत ने एक बार फिर भाजपा पर निशाना साधा है। इसके साथ ही महाराष्ट्र की नई सरकार में एनसीपी नेता अजित पवार क्या किरदार होगा, इसको लेकर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि वह एक बड़ी भूमिका में होंगे।

महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन वाली सरकार का शपथ ग्रहण 1 दिसंबर को होगा और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को विधायक दल का नेता चुना गया।

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने भाजपा के विधायक कालिदास कोलंबर को राज्य का प्रोटेम स्पीकर नियुक्त कर दिया है। राज्यपाल ने मंगलवार को कोलंबर को शपथ दिलाई। 

चौंकिएगा नही। ये सच है। देवेंद्र फडणवीस के इस्तीफे के बाद अब उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री होंगे। उपमुख्यमंत्री की रेस में दो नाम हैं। पहला नाम जयंत पाटिल का है और दूसरा बालासाहेब का है।