संयुक्त राष्ट्र

India vs Pak: राष्ट्रमंडल देशों के विदेश मंत्रियों की डिजिटल बैठक (Digital Meeting of Foreign Ministers of Commonwealth Countries) में भारत (India) ने बुधवार को पाकिस्तान (Pakistan) को फटकार लगाई है।

China in UN : 39 देशों ने मंगलवार को शिनजियांग(Xinjiang) में बड़ी संख्या में मौजूद 'पॉलिटकल री-एजुकेशन' कैंपों पर चिंता जताई, जिसको लेकर विश्वसनीय रिपोर्ट है कि इनमें 10 लाख से अधिक मुसलमानों(Muslims) को कैद करके रखा गया है।

Imran Khan in UN : सीमा(LoC) पर अक्सर सीजफायर का उल्लंघन करने वाला पाकिस्तान(Pakistan), अब उल्टा भारत पर ही आरोप लगाने लगा है। संयुक्त राष्ट्र महासभा(United Nation) में इमरान(Imran Khan) ने दावा किया कि, भारत सीजफायर का उल्लंघन कर सीमा पर तनाव पैदा कर रहा है।

UN 75th anniversary: संयुक्त राष्ट्र (United Nations) की 75वीं वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सोमवार देर रात UNGA (United Nations General Assembly-UNGA) की एक उच्च स्तरीय बैठक को संबोधित किया।

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में भारत को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। दरअसल भारत को कमीशन ऑन स्टेटस ऑफ वुमन (सीएसडब्लू) का सदस्य चुन लिया गया है।

भारत(India) द्वारा जारी बयान में कहा गया, "पाकिस्तान(Pakistan) बड़े पैमाने पर संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित आतंकवादियों का घर है। आतंकवादियों और आतंकी संगठनों में से कई का पाकिस्तान के अंदर दबदबा कायम है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने 2019 में संयुक्त राष्ट्र महासभा(United Nation) में इस बात को स्वीकारा था कि उनके देश में 40 से 50 हजार आतंकवादी मौजूद हैं।''

ईरान(Iran) की परमाणु गतिविधियों पर भी फिर पाबंदी लगेगी। गौरतलब है कि ईरान पर प्रतिबंध लगाने संबंधी प्रस्ताव पर पिछले सप्ताह हुए मतदान में अमेरिका(America) के पक्ष में सिर्फ एक सदस्य ने वोट किया था, रूस और चीन ने इसका विरोध किया जबकि 11 सदस्य अनुपस्थित रहे थे।

उत्तरी यमन में हुए हवाई हमलों में करीब नौ बच्चों की मौत हुई। संयुक्त राष्ट्र के एक अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। संयुक्त राष्ट्र के एक अधिकारी ने बताया कि विद्रोहियों के नियंत्रण वाले क्षेत्र में यह तीसरा हमला है।

संयुक्त राष्ट्र में पकिस्तान की कश्मीर मुद्दे को भुनाने कोशिश एक बार फिर फेल हो गई है। पाकिस्तान खुद ही आतंकवाद और टेरर फंडिंग के मुद्दे पर घिरता नजर आ रहा है।

ऑस्ट्रेलिया ने चीन के खिलाफ एक बड़ी चाल चली है, जिससे चीन परेशान हो गया है। ऑस्ट्रेलिया ने शुक्रवार की रात संयुक्त राष्ट्र में एक घोषणा पत्र देकर कहा है कि दक्षिण चीन सागर के दो विवादित आइलैंड, चीन का क्षेत्र का नहीं है।