संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र महासचिव गुटेरेस ने कहा कि मौजूदा स्वास्थ्य संकट के खत्म होने पर इस बात का अध्ययन करने के लिए समय होगा कि इस तरह की बीमारी कैसे उभरी और इतनी तेजी से कैसे फैल गई। साथ ही इसमें शामिल सभी पक्षों के प्रदर्शन का मूल्यांकन किया जा सकेगा।

ईएससीडब्ल्यूए ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि संकटों के समय में घरों में भोजन और पोषण वितरण हमेशा न्यायसंगत नहीं होता है। महिलाओं और लड़कियों को भोजन की खपत की गुणवत्ता और मात्रा को कम करने को कहा जाता है।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक ने कहा, "जैसा कि हवाई हमले और गोलाबारी के कारण नागरिक आबादी का भारी कीमत चुकाना जारी है, उत्तरपश्चिम सीरिया में इदलिब और उसके आसपास के क्षेत्रों में 30 लाख से अधिक नागरिकों की सुरक्षा और सलामती को लेकर संयुक्त राष्ट्र बहुत चिंतित है।"

शोध से पता चला है कि 1990 से 2017 के बीच 34.5 प्रतिशत लोगों की जान दिल की बीमारी के कारण हुई है, जबकि 2017 में एक साल से कम उम्र के करीब 70 प्रतिशत बच्चों की मौत दिल की बीमारी से हुई, जो कि जन्मजात बच्चों की मौतों का सबसे बड़ी संख्या है।

हमेशा भारत का बुरा सोचने वाले पाकिस्तान को शायद अब अकल आ गई है। कंगाली की हालत में पहुंच चुके पाकिस्तान को अब समझ में आने लगा है कि भारत से दुश्मनी मोल लेना उसे किस कदर भारी पड़ रहा है।

चीन द्वारा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) को कश्मीर मुद्दे में हस्तक्षेप कराने में विफल रहने के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने स्वीकार किया है कि दुनिया की नजर में कश्मीर मुद्दा द्विपक्षीय है, जिसे नई दिल्ली और इस्लामाबाद के बीच ही हल किया जाना है।

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से विकासशील देशों को घरेलू संसाधन जुटाने और निजी निवेशों को आकर्षित करने में सहायता करने का आग्रह किया है।

कश्मीर मसले पर पाकिस्तान और चीन को संयुक्त राष्ट्र में एक बार फिर से करारा झटका लगा है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में पाकिस्तान ने चीन की मदद करने के लिए कश्मीर का मुद्दा उठाया, लेकिन उसकी कोशिश फिर विफल हो गई।

उत्तरी माली में एक सैन्य अड्डे पर हुए एक हमले में चाड के 18 संयुक्त राष्ट्र शांति सैनिक घायल हो गए। संयुक्त राष्ट्र के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी।

संयुक्त राष्ट्र के मंच से भारत ने एक बार फिर पाकिस्तान को कड़ी फटकार लगाते हुए जमकर खरी खोटी सुनाई है। यूएन में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने गुरुवार को भारत के खिलाफ झूठी कहानी बनाने के लिए पाकिस्तान को लताड़ लगाई।