संसद सत्र की तारीख

सूत्रों की मानें तो यह शपथ ग्रहण पिछली बार की तरह शाम 4 से 5 बजे के बीच ही होगा। फिलहाल, यह साफ नहीं है कि पिछली बार की तरह इस बार दुनिया के देशों से नेताओं को शपथ ग्रहण में बुलाया जाएगा या नहीं।