संसद सत्र

संसद सत्र के दूसरे दिन आल इंडिया मजलिस-इ-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने सांसद पद की शपथ ली। लेकिन इस दौरान जब वह शपथ लेने आए तो संसद में 'जय श्रीराम' और 'भारत माता की जय' के नारे लगने लगे।

बीजेपी के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी 1991 से 6 बार सांसद रह चुके हैं। लेकिन इस बार बीजेपी ने गांधीनगर से उन्हें टिकट नहीं देकर अमित शाह को मैदान में उतारा था। 

सत्र की शुरुआत राष्ट्रगान के साथ हुई और इसके बाद 2 मिनट का मौन रखा गया। अब नव निर्वाचित सांसद शपथ ले रहे हैं। सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सांसद सदस्य के तौर पर शपथ ली। इस दौरान सदन में मोदी-मोदी के नारे गूंजते रहे।

पीएम मोदी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि आज से नई शुरुआत हो रही है। इस नई शुरुआत में नए उत्साह और नए उमंग के साथ काम करेंगे। आज नए साथियों के परिचय का वक्त है। कईं दशकों बाद एक सरकार पूर्ण बहुमत और पहले से ज्यादा सीटों के साथ जीत दिलाई है।

मोदी सरकार 2.0 में एक बार फिर से नई लोकसभा का सत्र सोमवार से शुरू हो रहा है, लेकिन विपक्षी पार्टियां अभी भी तितर-बितर नजर आ रही हैं। इसी को देखते हुए एनडीए ने रविवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई है। विपक्ष की तरफ से ऐसा कुछ नहीं देखा जा रहा है।

एनडीए की सहयोगी पार्टी जेडीयू तीन तलाक बिल का समर्थन नहीं करेगी। पार्टी ने इस मामले को लेकर कहा है कि, बिल के वर्तमान स्वरूप पर सहयोगी पार्टी की राय एक नहीं है और इसे थोपा नहीं जा सकता है।

दोबारा प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के बाद पीएम मोदी ने शुक्रवार को पहली कैबिनेट की बैठक बुलाई इस मीटिंग में संसद सत्र की तारीखों पर चर्चा की गई।

सूत्रों की मानें तो यह शपथ ग्रहण पिछली बार की तरह शाम 4 से 5 बजे के बीच ही होगा। फिलहाल, यह साफ नहीं है कि पिछली बार की तरह इस बार दुनिया के देशों से नेताओं को शपथ ग्रहण में बुलाया जाएगा या नहीं।