सचिन तेंदुलकर

तेंदुलकर ने नए साल की पूर्व संध्या पर कहा, "साल 2020 और इससे शुरू होने वाला दशक बच्चों का होना चाहिए। उनके साथ समय बिताएं, प्यार दें और उन्हें गलती करने की छूट देनी चाहिए-हमें उन्हें बड़े सपनों के लिए तैयार करना चाहिए।"

टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर और सचिन तेंदुलकर ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुलाकात की। यह 'शिष्टाचार मुलाकात' थी।

आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल का मानना है कि भारतीय कप्तान विराट कोहली और रोहित शर्मा की तुलना में पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली और सचिन तेंदुलकर अपने समय में सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजों का सामना कर चुके हैं। 

सचिन तेंदुलकर को उस वेटर की तलाश है, जिसकी सलाह पर उन्होंने अपने एल्बो गार्ड को रिडिजाइन किया था। सचिन ने अपने ट्विटर एकाउंट पर एक वीडियो साझा किया है, जिसमें वह उस घटना के बारे में बात कर रहे हैं।

क्रिकेट इतिहास में 16 नवंबर, 2013 का दिन दुनिया भर के क्रिकेट प्रशंसकों के लिए बेहद भावुक और खास दिन है। इसी दिन भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अपने घरेलू मैदान वानखेड़े स्टेडियम से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा था। 15 नवंबर, 1989 को पाकिस्तान में अपने करियर की शुरूआत करने वाले सचिन ने इसी तारीख के एक दिन बाद अपने 24 साल के क्रिकेट को अलविदा कह दिया था।

आज से 29 साल पहले 16 साल के सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट के साथ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पदार्पण किया था। उस समय खेल के इस सबसे मुश्किल प्रारूप में सचिन पहली पारी में पाकिस्तान के खिलाफ सिर्फ 15 रन ही बना पाए थे। लेकिन इसके बाद सचिन ने जो सफर शुरू किया वो पूरे विश्व की आंखों में छाया हुआ है और वही 16 साल का मासूम आज क्रिकेट का भगवान कहा जाने लगा है।

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने गुरुवार को कहा कि यह मैच भारत के लिए खास होता और इसी कारण इसके लिए खास लोगों को कोलकाता बुलाने का प्रयास किया जा रहा है। इनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सचिन तेंदुलकर जैसी हस्तियां शामिल हैं।

सचिन तेंदुलकर ने ट्वीट करते हुए लिखा, "खेल के प्रति जुनून और प्यार के कारण आप अभ्यास करने के नए-नए तरीके निकाल लेते हो और इससे भी ज्यादा आप जो कर रहे हो उसका लुत्फ उठाते हो।"

यूगोव की ओर से कराए सर्वे के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबसे चहेते भारतीयों में शीर्ष स्थान पर हैं और उनके बाद दो बार के विश्व विजेता कप्तान धोनी हैं।

दिग्गज क्रिकेटर भारत के पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने एशेज सीरीज में लाजवाब बल्लेबाजी करने वाले आस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ की बल्लेबाज की समीक्षा की है और उनकी सफलता का राज बताया है। स्मिथ ने एशेज सीरीज के चार मैचों में 774 रन बनाए जिसमें उनका सर्वोच्च स्कोर 211 रहा।