साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के शपथ के दौरान लोकसभा में जमकर हंगामा हुआ। साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर जैसे ही शपथ ले रही थीं, तभी विपक्ष के सदस्यों ने उनके नाम को लेकर आपत्ति जताई और हंगामा करने लगे। प्रज्ञा सिंह ठाकुर संस्कृत में शपथ ले रही थीं, जैसे ही उन्होंने संस्कृत में अपने नाम का उच्चारण किया। विपक्ष ने इसका विरोध किया और कहा कि वे सिर्फ अपने नाम का ही उच्चारण करें।

देश में सबसे दिलचस्प टक्कर मध्य प्रदेश की भोपाल सीट पर है, जो और भी ज्यादा रोचक होती जा रही है। क्योंकि पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के खिलाफ बीजेपी की साध्वी प्रज्ञा ठाकुर मैदान में हैं। जिस वजह से ये मुकाबला सीधे तौर पर हिंदुत्व और धर्मयुद्ध की तरह लड़ा जा रहा है। भगवा आतंकवाद जैसे शब्दों के इस्तेमाल करने वाले दिग्विजय सिंह के लिए भी साधु-संतों की टोली प्रचार में जुटी है।

लोकसभा चुनाव के छठे चरण के तहत 12 मई को भोपाल में मतदान होगा, लिहाजा चुनाव प्रचार के लिए बहुत की कम समय शेष बचा है। ऐसे में आज सुबह कांग्रेस का रोड शो हुआ, जिसके बाद शाम को बीजेपी रोड शो करेगा। ये भी बता दें कि इस बार सबसे ज्यादा दिलचस्प मुकाबला इसी सीट पर देखने को मिलने वाला है, क्योंकि यहां से दिग्विजय सिंह के खिलाफ साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ताल ठोक रही हैं।

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने भोपाल में साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के समर्थन में आयोजित चुनावी सभा के दौरान कांग्रेस और गांधी परिवार पर जमकर हमला बोला। जनसभा में उमा भारती ने कांग्रेस को 'अंग्रेजों की जूठन' कह डाला।

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर पर चुनाव आयोग ने 72 घंटे का प्रतिबंध लगा दिया है। साध्वी गुरुवार सुबह 6 बजे से 72 घंटे तक चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगी। साध्वी पर ये बैन 'बाबरी मस्जिद ढहाने का गर्व है' वाले बयान के कारण लगाया है।