सामना

Shivsena: कृषि से जुड़े कानूनों में बदलाव को लेकर पंजाब (Punjab) के शिरोमणि अकाली दल (SAD) ने राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) से नाता तोड़ दिया है। कई सालों से भाजपा से मजबूती से जुड़ा हुआ अकाली दल अब अलग हो चुका है।

सामना(Saamana) में शिवसेना(Shivsena) ने संपादकीय के जरिए अभिनेत्री कंगना रनौत(Kangna) पर बिना उनका नाम लिए निशाना साधा है। संपादकीय में लिखा गया, "मुंबई पाक अधिकृत कश्मीर है कि नहीं, यह विवाद जिसने पैदा किया है, उसी को मुबारक।"

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) की मां आशा रनौत (Asha Ranaut) ने बीजेपी की तारीफ की है और कहा है कि उनकी बेटी की जो बीजेपी ने मदद की है उसके लिए वे उनका धन्यवाद देती हैं।

यह पहला मौका नहीं है कि जब शिवसेना(Shivsena) की तरफ से इस शब्द का इस्तेमाल किया गया हो। इससे पहले शिवसेना सांसद संजय राउत(Sanjay Raut) ने कंगना रनौत(Kangna Ranaut) को हरामखोर लड़की कह दिया था।

शरद पवार से पूछा गया कि महाराष्ट्र की मौजूदा सरकार के आप हेडमास्टर हैं या रिमोट कंट्रोल तो उन्होंने जवाब में कहा कि, "दोनों में से कोई नहीं। हेडमास्टर तो स्कूल में होना चाहिए। लोकतंत्र में सरकार या प्रशासन कभी रिमोट से नहीं चलता। रिमोट कहां चलता है? जहां लोकतंत्र नहीं है वहां।

राज्‍य सरकार में कैबिनेट मंत्री अशोक चव्हाण का कहना है कि राज्‍य सरकार उनकी अवहेलना कर रही है और उन्‍हें उनका जायज हक नहीं मिल पा रहा है। चव्हाण का कहना है कि सरकार में बहुत सी चीजें ठीक नहीं चल रही है, जिसके बारे में हम मुख्‍यमंत्री जी से बात करना चाहते हैं।

पाकिस्तान चीन का गुलाम है, लेकिन चीन से लड़ने के लिए 56 इंच का सीना चाहिए और वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास है। इसलिए चीन से घबराने की जरूरत नहीं, देश चिंता न करे।

सामना में जिन्ना का भी ज़िक्र किया गया, "गांधी जी अंग्रेजों के एजेंट थे। गांधी का स्वतंत्रता आंदोलन प्रायोजित था, ऐसा भाजपाई सांसद अनंत कुमार हेगड़े कहते हैं। ऐसा जो कहते हैं, उन्हें पाकिस्तान में व्याप्त अराजकता को देखना चाहिए। वहां बैरिस्टर जिन्ना सुखी और यहां गांधी बदनाम हैं, ऐसा दौर चल रहा है!"

उद्धव ठाकरे ने अपने मुखपत्र सामना में राज ठाकरे और उनकी राजनीति को लेकर तंज कसा और उनके द्वारा पार्टी का झंडा और नारा बदलने पर सवाल भी उठाया।

महाराष्ट्र: देवेंद्र फडणवीस से बुरी तरह चिढ़ी हुई है शिवसेना, सामना में उगला ‘ज़हर’