सिख

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इस मांग को 2003 में तब विपक्ष के नेता मनमोहन सिंह ने राज्यसभा में उठाया था। वही कांग्रेस जो अभी सरकार के द्वारा लाए इस बिल का विरोध कर रही है वह अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के समय संसद में खड़े होकर इस बात के लिए सरकार को तैयार करने के लिए दवाब बनाने की कोशिश कर रही थी।

11 और 12 नवंबर को करतारपुर में सिख धर्म के प्रथम गुरु बाबा गुरु नानक देव का प्रकाश पर्व मनाया जाएगा। इस गलियारे में एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं दिए जाने की भी बात है। यात्रियों के लिए 152 इमीग्रेशन सेंटर बनाए गए हैं।

उनका कहना है कि वह सरकार द्वारा इस तरह के वर्गीकरण की मांग को ठुकराए जाने के खिलाफ कानूनी कदम उठाएंगे।

देश की राजधानी दिल्ली के मुखर्जी नगर में सिख ऑटो ड्राइवर सरबजीत और उसके बेटे की पिटाई के मामले को लेकर लगाई गई जनहित याचिका पर हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस को कड़ी फटकार लगाई है। साथ ही पूछा है कि आखिर ऑटो ड्राइवर और उसके 15 साल के बेटे को सड़क पर दिनदहाड़े क्यों बेरहमी से पीटा गया? कोर्ट ने इस मामले में दिल्ली पुलिस को एक हफ्ते में अपनी इंक्वायरी रिपोर्ट सौंपने को कहा है।

नई दिल्ली। केंद्रीय कैबिनेट ने सोमवार को बांग्लादेश, अफगानिस्तान और पाकिस्तान के गैर मुस्लिमों को भारतीय नागरिकता देने के लिए...

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी से इस्तीफा देने के बाद पंजाब के सीनियर नेता और वकील एच. एस. फुल्का ने एक...

नई दिल्ली। साल 2018 का अंत जहां एक ओर कांग्रेस के लिए खुश‍ियों की सौगात लेकर आया है, वहीं तीन...

नई दिल्ली। अमेरिका में जाकर बसना ना सिर्फ भारतीय लोगों बल्कि दुनियाभर के लोगों की ख्वाहिश रहती हैं। ऐसे में...