सिसोदिया के ओएसडी

जमानत याचिका में लिखा है, "इस तरह के किसी आरोप से आरोपी को जोड़ने का भी प्रथमदृष्ट्या कोई सबूत नहीं है।" माधव ने कहा कि कथित कबूलनामे से पहले उनकी तरफ से किसी रिश्वत की मांग न होना इस मामले में दर्ज प्राथमिकी रद्द करने के लिए पर्याप्त है।