सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया कि मान्यताप्राप्त सरकारी या प्राइवेट लैब में कोरोना वायरस की जांच मुफ्त में की जाएगी।

आज यानी 9 अप्रेल को पूरे देश में हनुमान जयंती मनाई जा रही है। हनुमान जयंती के इस खास मौक पर क्रांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को महानायक अमिताभ बच्चन की मां की याद आई।

दरअसल याचिकाकर्ता का कहना था कि लॉकडाउन के दौरान लोगों के सामने आर्थिक संकट है, लिहाजा लोग कोरोना वायरस की महंगी जांच से बचेंगे। इससे बीमारी फैल सकती है और सरकार को सबकी जांच मुफ्त में करवानी चाहिए।

ईरान में फंसे 1000 तीर्थयात्रियों के जत्थे में से 750 व्यक्तियों को वापस लाया जा चुका है। केंद्र ने कहा कि फिलहाल कौम में 250 तीर्थयात्री हैं, जो या तो कोरानावायरस से ग्रसित हैं या उन व्यक्तियों के रिश्तेदार हैं, जिन्होंने स्वेच्छा से कोम वापस लौटने का फैसला किया है।

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में आरोपी क्रिश्चियन मिशेल के वकील से उसकी अंतरिम जमानत के लिए दिल्ली हाइकोर्ट जाने को कहा।

कोरोना वायरस से निपटने के लिए सरकार ने जो सख्ती दिखाई उसकी सुप्रीम कोर्ट ने तारीफ की। कोर्ट ने माना कि सरकार सभी जरूरी कदम उठा रही है और आलोचक तक इसकी सराहना कर रहा है।

सुप्रीम कोर्ट ने मध्य प्रदेश में 20 मार्च को शाम 5 :30 बजे फ्लोर टेस्ट कराये जाने का आदेश दिया है। जहां विधासभा में कमलनाथ सरकार को बहुत साबित करना है। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश देते हुए कहा है कि कल शाम 5 :30 बजे तक हर हाल में फ्लोर टेस्ट किया जायेगा और इसकी प्रक्रिया की पूरी वीडियोग्राफी किये जाने का आदेश भी दिया गया है।

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को निर्भया मामले के दोषी पवन गुप्ता की क्यूरेटिव पिटीशन खारिज कर दी। 2012 में निर्भया सामूहिक बलात्कार और हत्याकांड मामले में फांसी की सजा पाए चार दोषियों में से पवन एक है। 

मध्यप्रदेश में जारी सियासी घमासान पर सुप्रीम कोर्ट में आज (गुरुवार को) भी सुनवाई जारी रहेगी। सुप्रीम कोर्ट में इससे पहले इस मामले की सुनवाई के दौरान न्यायाधीश न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ और हेमंत गुप्ता की पीठ ने कहा कि बेंगलुरू से जारी विधायकों के वीडियो देखकर यह तय नहीं किया जा सकता कि वे दबाव में हैं या फिर स्वेच्छा से निर्णय ले रहे हैं।

मध्यप्रदेश में जारी सियासी संकट के बीच बहुमत परीक्षण को लेकर सुप्रीम कोर्ट में आज (गुरुवार को) फिर से सुनवाई होने वाली है। अदालत से लेकर बेंगलुरु तक राजनीतिक दांव पेंच जारी हैं। इससे पहले शीर्ष अदालत में मामले पर बुधवार को दिनभर सुनवाई हुई।