सोनिया गांधी

अब कांग्रेस पार्टी की टोंक ईकाई के 59 लोगों ने इस्तीफा दे दिया है। इन लोगों ने सचिन पायलट के खिलाफ हुई कार्रवाई के विरोध में इस्तीफा दिया है।

सचिन पायलट यहां कांग्रेस के लिए जीत तय करनेवाले विमान की मुख्य सीट पर बैठकर उसको चला रहे थे और सत्ता की मलाई खाने का जब वक्त आया तो पार्टी की तरफ से अशोक गहलोत को सामने लाकर खड़ा कर दिया।

कांग्रेस में जारी अंतर्कलह को लेकर पार्टी के कई वरिष्ठ नेता चिंतिति और परेशान नजर आ रहे हैं। कल इसी को लेकर दिग्विजय सिंह का भी बयान आया था। अब कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने अपनी पार्टी के लिए चिंता जाहिर की है।

पीएम मोदी को लिखे पत्र में सोनिया गांधी ने लिखा है कि, 'अखिल भारतीय कोटा के तहत सभी केंद्रीय एवं प्रादेशिक मेडिकल शिक्षण संस्थानों में अनुसूचित जाति, अनुसूचति जनजाति और आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए क्रमश: 15, 7.5 और 10 प्रतिशत सीटें आरक्षित होती हैं।

मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन से चंदा मिलने के बाद आयात में दी गई रियायतों के लिए तत्कालीन वाणिज्य मंत्री कमलनाथ की भूमिका को संदिग्ध बताते हुए पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है।

नरसिम्हा राव के संबंध कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से कभी उतने ठीक नहीं रहे हैं। यहां तक कि कांग्रेस के इस समय के कई बड़े नेता नरसिम्हा राव के पीएम होते हुए बाबरी मस्जिद गिराए जाने की घटना को 'दुर्भाग्य' के नजरिए से देखते हैं।

अब सोनिया गांधी के इस द्वारा जारी इस वीडियो संदेश पर भारत के पूर्व थल सेना अध्यक्ष जनरल वी.पी. मलिक का बयान सोशल मीडिया पर आया है।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस ने चीन के सामने घुटने टेक रखे थे। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि राजीव गांधी फांउडेशन से चीन को डोनेशन मिला।

जब भी भारत और चीन के बीच संघर्ष देखने को मिलता है कांग्रेस पार्टी चीन की भाषा बोलने लग जाती है। चाहे मामला डोकलाम का हो या फिर हाल ही में घटित हुई गलवान घाटी की घटना का।

सोनिया ने कहा है, ‘‘तीन महीने के सख्त लॉकडाउन के कारण करोड़ों भारतीय नागरिकों के गरीबी की गिरफ्त में आ जाने का खतरा है। इसके विपरीत प्रभाव के कारण शहरी और ग्रामीण गरीबों के लिए खाद्य सुरक्षा का संकट पैदा हो गया है।’