सौरव गांगुली

बीसीसीआई (BCCI) ने क्रेड (CRED) को 19 सितंबर से संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में शुरू हो रहे आईपीएल (IPL) के लिए आधिकारिक साझेदार बनाने की घोषणा की है। इस पर अध्यक्ष सौरव गांगुली ने बीसीसीआई को बधाई दी है।

गांगुली(Sourav Ganguly) ने कहा, "चैलेंजर ट्रॉफी थी, उन्होंने मेरी टीम से सलामी बल्लेबाजी करते हुए शतक बनाया था। मुझे यह पता था। खिलाड़ी तब बनता है जब उसे ऊपर भेजा जाता है, आप निचले क्रम में रखकर किसी को खिलाड़ी नहीं बना सकते।

भारत के दो दिग्गज पूर्व कप्तान सौरव गांगुली और महेंद्र सिंह धोनी के बीच बेहतर कप्तान को लेकर चर्चा जोरों पर है। पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने हाल ही में कहा था कि गांगुली ने कड़ी मेहनत से टीम तैयार की थी। इसी का नतीजा था कि धोनी इतनी सारी ट्रॉफियां जीतने में सफल रहे।

बीसीसीआई के प्रेसिडेंट सौरव गांगुली ने इंडियन प्रीमियर लीग को ले कर बड़ा बयान दिया है। जिसमें उन्होंने इशारा कर दिया कि इस साल हर हाल में आईपीएल का आयोजन होगा।

आईसीसी के सदस्‍य बोर्ड के 2/3 बहुमत से यह साफ हो गया है कि शशांक मनोहर का कार्यकाल नहीं बढ़ाया जा जाएगा और जल्‍द से जल्‍द चुनाव करवाएंगे जाएंगे। आईसीसी चुनाव का रास्‍ता साफ हो गया है।

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने मंगलवार को प्रशंसकों को भारत की महान सलामी जोड़ी सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली के बारे में याद दिलाया। इन दोनों ने वनडे में 176 साझेदारियां की हैं। इस दौरान इन दोनों ने 47.55 की औसत से 8227 रन बनाए।

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा है कि वह कोरोनावायरस के कारण लगे लॉकडाउन के चलते अपने परिवार के साथ समय बिताने का लुत्फ ले रहे हैं।

गंभीर ने क्रिकेट कनेक्टेड कार्यक्रम में कहा, " अगर रिकॉर्ड की बात करें तो मैं धोनी का नाम लूंगा, लेकिन जिन कप्तानों के साथ मैं खेला हूं, उनमें अनिल कुंबले सर्वश्रेष्ठ कप्तान हैं।"

पूर्व आलराउंडर ने कहा, " जैसे ही मेरे पिता को मियांदाद ने देखा, वह खड़े हो गए और उन्होंने कहा-मैंने आपके बेटे के बारे में ऐसा कुछ भी नहीं कहा। उनकी बात सुनने के बाद मेरे पिता के चेहरे पर अजीब सी हंसी थी और उन्होंने कहा, मैं यहां आपको कुछ कहने नहीं आया था। मैं तो आपसे मिलना चाहता था, आप बेहतरीन खिलाड़ी थे।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोनावायरस महामारी से निपटने के लिए देशभर में अगले 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की है, जोकि मंगलवार आधी रात से ही लागू है। पीएम मोदी को लॉकडाउन इसलिए करनी पड़ी है क्योंकि देश में कोरोना के अब तक 500 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 10 लोगों की मौत हो चुकी है।