स्विट्जरलैंड

दुनियाभर में कोरोनावायरस महामारी का प्रकोप जारी है। हर देश इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए बड़े-बड़े कदम उठा रहा है। लेकिन कोरोना संकट से निपटने के लिए भारत सरकार के फैसले की दुनिया के कई देश तारीफ भी कर चुके हैं।

सेमीफाइनल में आने के लिए फेडरर को कड़ा पसीना बहाना पड़ा था। अमेरिका के टैनी सैंडग्रेन ने पांच सेट तक चले मैच में उन्हें काफी परेशान किया था। फेडरर हालांकि विजयी रहे और अंतिम-4 में पहुंचे थे।

स्विट्जरलैंड के दावोस में मंगलवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की। दोनों नेताओं की यह मुलाकात वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (डब्लूईएफ) से इतर हुई।

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली इस समय अपनी पत्नी अनुष्का शर्मा के साथ स्विट्जरलैंड में छुट्टियां मना रहे हैं। इसी दौरान उन्होंने अपनी पत्नी को सर्वश्रेष्ठ फोटोग्राफर बताया है। कोहली ने मंगलवार को अपनी एक फोटो ट्वीट की जिस पर उन्होंने लिखा कि यह फोटो सर्वश्रेष्ठ फोटोग्राफर द्वारा ली गई है।

स्विटरजरलैंड की संघीय टकसाल स्विसमिंट ने फेडरर के सम्मान में उनकी छवि के साथ एक 20 फ्रैंक का चांदी का सिक्का बनाया है। इतिहास में यह पहली बार है, जब स्विसमिंट ने किसी जीवित व्यक्ति के सम्मान में चांदी का स्मारक सिक्का जारी किया है।

स्विट्जरलैंड के दिग्गज खिलाड़ी रोजर फेडरर ने कहा कि वह फिलहाल टेनिस को अलविदा कहने के बारे में नहीं सोच रहे। फेडरर यहां एक प्रदर्शनी मैच में जर्मनी के एलेक्जेंडर ज्वेरेव का सामना करेंगे।

स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर से मात खाने के बाद साफ हो गया है कि जोकोविक सीजन का अंत वर्ल्ड नंबर-1 के तौर पर करने के लिए स्पेन के राफेल नडाल से रेस नहीं कर पाएंगे।

स्विट्जरलैंड के टेनिस स्टार रोजर फेडरर 'पारिवारिक कारणों' के चलते अगले साल जनवरी में होने वाले पहले एटीपी कप से हट गए हैं। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, फेडरर के टूर्नामेंट में भाग नहीं लेने के कारण अब स्विट्जरलैंड भी 24 देशों के टूर्नामेंट में क्वालीफाई नहीं कर सकता है।

स्विट्जरलैंड के दिग्गज टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर ने अगले साल टोक्यो ओलम्पिक में हिस्सा लेने की पुष्टि कर दी है। बीबीसी ने फेडरर के हवाले से लिखा, "आखिरी में मेरे दिल ने फैसला किया है कि मैं ओलम्पिक में खेलना पसंद करूंगा।"

स्विट्जरलैंड ने आटोमेटिक सूचना आदान प्रदान व्यवस्था के तहत इसी महीने में सूचनाओं की पहली लिस्ट भारत को सौंप दी है। आगे से यह जानकारी हर माह भारत सरकार को मिलेगी।