हस्तरेखा

उतारे की वस्तु सीधे हाथ में लेकर नजर दोष से पीड़ित व्यक्ति के सिर से पैर की ओर सात अथवा ग्यारह बार घुमाई जाती है। इससे वह बुरी आत्मा उस वस्तु में आ जाती है।

हस्तरेखा ज्योतिष के अनुसार भाग्य रेखा बताती है कि व्यक्ति भाग्यशाली है या नहीं।लिखा तो सभी का भाग्य है बस हाथों की लकीरों से कुछ मदद ही मिल जाती है कि हम सही रास्ते पर हैं या नहीं हैं

हस्तरेखा ज्योतिष में कुछ ऐसे योग बताए गए हैं जिनके होने पर अचानक धन लाभ और सरकारी नौकरी मिलने के साफ साफ संकेत होते है। अगर भाग्य रेखा चंद्र पर्वत से शुरू होकर बिना कटे सीधे शनि पर्वत तक पहुंचती हो तो व्यक्ति पर शनि भगवान मेहरबान होते है।