हिंसा

रविवार की रात दिल्ली एक बार फिर फर्जी खबरों के चलते हिंसा और आगजनी की आग में जलने से बच गई। राष्ट्रीय राजधानी में बीती रात महज दो-तीन घंटे में दिल्ली पुलिस नियंत्रण कक्ष को 1880 सूचनाएं मिलीं।

आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर ने रविवार को उत्तर-पूर्वी दिल्ली में दंगा पीड़ितों से मुलाकात करते हुए कहा कि सरकारी मुआवजा पर्याप्त नहीं है और आत्मविश्वास को बहाल करना ही होगा।

राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा के बाद अब माहौल में शांति है। नार्थ ईस्ट दिल्ली में अभी भी तनाव न हो जाये इसके लिए सुरक्षाबलों की तैनाती भी की गई है।इसी बीच अब गृह मंत्री अमित शाह ने सवारकर साहित्य सम्मलेन में जाने का कार्यक्रम रद्द कर दिया है।

दिल्ली दमकल विभाग के निदेशक अतुल गर्ग ने कहा, "आग लगने की सूचना के कुल 45 फोन कॉल आए, दमकल विभाग के एक वाहन पर पत्थरबाजी की गई और एक वाहन को पूरी तरह जला दिया गया। तीन दमकल कर्मी घायल हो गए।"

आप विधायक व मंत्री गोपाल राय ने कहा कि, बाबरपुर में चारों तरफ दहशत का माहौल बना हुआ है दंगाई फायरिंग व आग लगाते घूम रहे हैं लेकिन पुलिस फोर्स नहीं है।

जिन 7 लोगों की मौत हो चुकी है, उसमें हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल भी शामिल हैं। इसके अलावा 100 से ज्यादा लोग घायल हैं। गौरतलब है कि मंगलवार सुबह भी हालात तनावपूर्ण है।

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर दिल्ली के कई इलाकों में भड़की हिंसा के तार अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से जुड़ते दिख रहे हैं।

राजधानी दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में बवाल शुरू होने के बाद उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में भी माहौल एक बार फिर से तनावपूर्ण हो गया है।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल के लिए पार्टी के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया है कि मुर्शिदाबाद जाते समय उनकी गाड़ी को मुस्लिमों की भीड़ ने घेर लिया।

वेब की दुनिया में मनोज बाजपेयी नए नहीं हैं। वह इससे पहले शॉर्ट फिल्म 'कृति' और 'तांडव' में काम कर चुके हैं।