हिन्दू पक्ष

मुस्लिम पक्ष के वकील जफरयाब जिलानी ने कहा कि हम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं, लेकिन फैसले में कई विरोधाभास है, लिहाजा हम फैसले से संतुष्ट नहीं है।

अयोध्या मामला में पक्षकारों ने मोल्डिंग ऑफ रिलीफ़ के तहत अपनी दलीलें पेश करनी शुरू कर दी हैं। सुप्रीम कोर्ट ने इसके लिए तीन दिन का वक्त दिया था। दरअसल मोल्डिंग ऑफ रिलीफ फैसला पक्ष में ना आने की सूरत में एक सांत्वना की तरह होती है।

अयोध्या भूमि विवाद मामले में मुस्लिम पक्षकारों ने शुक्रवार को एक बयान जारी किया। इस बयान ने सुलह की सारी संभावनाओं को खारिज कर दिया गया। यहां तक सुन्नी वक्फ बोर्ड के प्रस्ताव को मानने से भी इंकार कर दिया।

भाजपा नेता अभिषेक दुबे ने पार्लियामेंट स्ट्रीट थाने में शिकायत दर्ज कराई है और उन्होंने अपनी शिकायत में कहा है कि, राजीव धवन द्वारा नक्शा फाड़ने से देश में अराजकता फैलाने और धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का काम किया गया है।