हेमंत सोरेन

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगी। सूत्रों के मुताबिक, 29 दिसंबर को रांची में हेमंत सोरेन मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे, जहां बनर्जी भी उपस्थित होंगी।

झारखंड के भावी मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे और 29 दिसंबर के शपथ ग्रहण समारोह के लिए उन्हें आमंत्रित करेंगे। हेमंत सोरेन कांग्रेस के शीर्ष नेताओं से मिलकर राज्य में गठबंधन सरकार के गठन पर चर्चा भी करने वाले हैं।

झारखंड में भाजपा की हार और गठबंधन की जीत के बाद झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) नेता हेमंत सोरेन के मुख्यमंत्री बनने का रास्ता साफ हो गया है। मुख्यमंत्री बनने के बाद भी हेमंत सोरेन के सामने चुनौतियां कम नहीं होंगी।

अमित शाह ने ट्वीट कर कहा, "भाजपा को 5 वर्षो तक प्रदेश की सेवा करने का जो मौका दिया था, उसके लिए हम जनता का हृदय से आभार व्यक्त करते हैं। भाजपा निरंतर प्रदेश के विकास के लिए कटिबद्ध रहेगी।"

रांची में पत्रकारों से चर्चा करते हुए हेमंत सोरेन ने इस परिणाम को पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के अध्यक्ष शिबू सोरेन के परिश्रम और समर्पण का परिणाम बताया और गठबंधन में शामिल राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद, कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को धन्यवाद दिया।

हालांकि चुनाव नतीजों के रुझानों पर झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि अभी नतीजे स्पष्ट नहीं है लेकिन जश्न तो कोई भी मना सकता है। उन्होंने कहा कि हम चुनाव जीत रहे हैं और भाजपा के नेतृत्व में सरकार बननी तय है। सीएम ने कहा कि जश्न कोई भी मना सकता है।

झारखंड चुनाव में मोदी की अगुआई में भाजपा ने जहां राष्ट्रीय मुद्दों को हथियार बनाया, वहीं सोरेन ने स्थानीय मुद्दे चुने।

झारखंड विधानसभा की 81 सीटों के लिए सोमवार को हो रही मतगणना के शुरुआती रूझानों में झामुमो, राजद, कांग्रेस का गठबंधन भाजपा से आगे चल रहा है। परंतु झामुमो के नेता हेमंत सोरेन दुमका से पीछे चल रहे हैं।

झारखंड विधानसभा की सभी 81 सीटों के लिए पांच चरण में मतदान कराए गए। पहले चरण के लिए 30 नवंबर, दूसरे चरण के लिए 07 दिसंबर, तीसरे चरण के लिए 12 दिसंबर, चौथे चरण के लिए 16 दिसंबर और पांचवें चरण के लिए 20 दिसंबर को मतदान हुए थे।

झारखंड विधानसभा चुनाव के अंतिम और पांचवें चरण में 20 दिसंबर को 16 सीटों पर मतदान होना है। सबकी नजर राज्य की उपराजधानी दुमका सीट पर बनी हुई है। दुमका सीट पर भाजपा की प्रत्याशी और मंत्री लुइस मरांडी और झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) प्रत्याशी और पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के बीच सीधा मुकाबला है, लेकिन झाविमो प्रत्याशी अंजूला मुर्मू के मैदान में उतरने से मुकाबला त्रिकोणीय होने के आसार भी लगाए जा रहे हैं।