​​Sharjeel Imam

Delhi Riots: दिल्ली पुलिस(Delhi Police) की अर्जी का विरोध करते हुए उमर खालिद(Umar Khalid) के वकील ने कहा कि उमर खालिद ने पुलिस की जांच में पूरी तरह से सहयोग किया है। ऐसे में उमर खालिद पर यह आरोप लगाना कि उसने जांच में सहयोग नहीं कर रहा है, गलत है।

पुलिस उपायुक्त (अपराध) राजेश देव ने कहा कि चार्जशीट पटियाला हाउस कोर्ट में दायर की गई। अदालत अब 27 जुलाई को इस मामले की सुनवाई करेगी।

इससे पहले दिल्ली पुलिस ने दिल्ली हाईकोर्ट में जवाब दाखिल कर कहा था कि उसे शरजील इमाम के खिलाफ जांच के लिए और समय की जरूरत है।

याचिका में ट्रायल कोर्ट के उस आदेश को भी चुनौती दी गई है, जिसके तहत अदालत ने मामले में चार्जशीट दाखिल करने के लिए दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच को और समय दिया था। पिछले हफ्ते, दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने शरजील इमाम द्वारा भड़काऊ भाषण दिए जाने के मामले में दायर जमानत अर्जी खारिज कर दी थी।

दिल्ली हिंसा की जांच कर रही क्राइम ब्रांच को अपनी जांच में एक और सफलता मिली है। जिसमें पता चला है कि जेएनयू के पूर्व छात्र शरजील इमाम ने जानबूझ कर दिल्ली समेत देश भर में दंगे कराने के मकसद से भड़काऊ भाषण दिए थे।

गौरतलब है कि शरजील पर जामिया मिलिया इस्लामिया और अलीगढ़ में कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने के मामले में राजद्रोह का मामला दर्ज किए गया था जिसके बाद से वो फरार हो गया था लेकिन दिल्ली पुलिस ने 28 जनवरी को बिहार के जहानाबाद से उसे गिरफ्तार किया था।

शरजील को इस मामले से जुड़े होने को लेकर सोमवार को गिरफ्तार किया गया और एक दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। उसकी रिमांड अवधि खत्म होने के बाद उसे मंगलवार को अदालत में पेश किया गया। दिल्ली पुलिस ने मामले में दायर आरोप-पत्र में उसे लोगों को उकसाने के लिए नामजद किया है।

इससे पहले शरजील इमाम का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ जिसमें वह देश विरोधी बयानबाजी करते नजर आ रहा था। जांच से पता चला कि यह वीडियो 16 जनवरी को AMU में एक सार्वजनिक भाषण के दौरान रिकॉर्ड किया गया था। इस वीडियो में शरजील राष्ट्र विरोधी बयानबाजी करते हुए देखा गया जिसमें वह उत्तर-पूर्व भारत को शेष भारत से काटने की बात करता है।

जेएनयू में ‘इंडिया माई वैलेंटाइन’ प्रोग्राम का आयोजन किया गया था। इसी दौरान ये सब हरकतें की गयी, इस कार्यक्रम का आयोजन बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर और उनके कुछ साथियों ने मिलकर किया था।

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस को शरजील इमाम के बैंक खाते में विदेशी फंडिंग के सबूत मिले हैं। इसके तार शाहीन बाग में हो रहे विरोध प्रदर्शन से भी जुड़े हैं।