15 August

इतिहास (History) मार्गदर्शक होता है और संस्कृति प्रेरक। इतिहास की गलतियां सबक सिखाती हैं। संस्कृति के प्रेरक तत्व उत्सव बनते हैं। 15 अगस्त (Independence Day) भारतीय स्वाधीनता (Indian independence) का महोत्सव है।

आज 15 अगस्त के दिन पूरा देश स्वतंत्रा दिवस (Independence Day) मना रहा है। 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Narendra Modi) ने लाल किले (Red Fort) के प्राचीर से तिरंगा फहरा दिया है। इसे देखते हुए कई मार्गों में बदलाव (Road Divert) किए गए हैं।

15 अगस्त के दिन भारत (India) में स्वतंत्रता दिवस (independence day) मनाया जाता है। इसी दिन साल 1947 में देश को ब्रिटिश हुकूमत (British Rule) से आजादी मिली थी। आजादी दिलाने में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की अहम भूमिका रही थी।

गृह मंत्रालय(Home Ministry) की ओर से जारी अधिसूचना में कहा गया है कि लाल किले में होने वाले समारोह में प्रधानमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर, 21 तोपों की सलामी, प्रधानमंत्री(Prime Minister) का भाषण और राष्ट्रगान शामिल होगा।

रविवार को हुए रक्षा मंत्रालय द्वारा ऐलान के बाद अब करीब 101 घातक हथियारों और जरूरत के सामानों को भारत में ही बनाया जाएगा, आने वाले वक्त में इनका इम्पोर्ट बिल्कुल बंद कर दिया जाएगा।

पीएम मोदी के भाषण को लेकर शत्रुघ्न सिन्हा ने कई ट्वीट किये जिसमें पीएम मोदी द्वारा लाल किले से उठाए गए मुद्दों को लेकर सराहना की। एक और ट्वीट में उन्होंने लिखा कि, "बड़े कदम के तौर पर सीडीएस की नियुक्त (आर्मी, नेवी और एयरफोर्स का टॉप लीडर) की बात कर आपने निश्चित तौर पर मन को छू लिया।

कांग्रेस के बड़े नेता और यूपीए सरकार में वित्त मंत्री रहे पी चिदंबरम को भाजपा व मोदी सरकार की आलोचना के लिए जाना जाता है। इसके उलट 15 अगस्त पीएम मोदी के भाषण में शामिल तीन ऐसी बातें जिनकी तारीफ पी चिदंबरम भी करते दिखाई दिए हैं।

इसके अलावा मुख्यमंत्री ने आज रक्षाबंधन पर्व की भी शुभकामनाएं दी और कहा, "देश की सभी बहनों-बेटियों को रक्षाबंधन की शुभकामनाएं। प्रदेश की सभी माताओं-बहनों को रक्षाबंधन के पावन पर्व पर सुरक्षित एवं मुफ्त यातायात का तोहफा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज (गुरुवार को) स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से कहा कि देश के बेहतर भविष्य के लिए भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद को खत्म करना होगा।

पीएम मोदी ने कहा कि जो लोग इस विषय पर आगे कदम बढ़ा चुके हैं और सीमित परिवार के फायदे को लोगों को समझा रहे हैं उन्हें आज सम्मानित करने की जरूरत है। छोटा परिवार रखने वाले देशभक्त की तरह हैं।