AAP

लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन की अटकलें लगातार जारी हैं। दिल्ली में गठबंधन की खबरों पर पहली बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सीधे प्रतिक्रिया दी है। राहुल गांधी ने सोमवार को दिल्ली में गठबंधन को लेकर एक ट्वीट किया है।

गठबंधन को लेकर न्यूजरूम पोस्ट की टीम ने 'चुनाव जोर गरम' सेगमेंट के जरिए लोगों से कई सवाल किए जिसके जवाब में लोगों ने कहा कि ये दोनों जनता को धोखा दे रहे हैं।

लोकसभा चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी की तरफ से काफी कोशिशें की गईं कि दिल्ली में कांग्रेस का साथ उसका गठबंधन हो जाए लेकिन कांग्रेस की तरफ से ना ही सुनने को मिली।

आम आदमी पार्टी (आप) विधायक और प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने पार्टी की साथी विधायक अलका लांबा को ट्विटर पर कांग्रेस में शामिल होने की चुनौती दी है। कांग्रेस द्वारा मंगलवार को जारी किए गए घोषणापत्र पर चांदनी चौक से विधायक अलका लांबा के प्रतिक्रिया देने के बाद ट्विटर पर दोनों विधायकों के बीच यह जंग शुरू हुई।

दिल्ली में संविदा कर्मचारी संघ के अध्यक्ष वाल्मीकि झा ने कहा, “सभी पूर्व कर्मचारियों, जिनकी सेवाओं को समाप्त कर दिया गया था, ने इसके विरोध में ये पोस्टर लगाए हैं।

खत में भूपेश बघेल ने पीएम मोदी को कहा कि आप इस आईने में खुद को देखकर अपना असली चेहरा पहचानिए।भूपेश बघेल ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी इस आईने को लोक कल्याण मार्ग के ऐसे जगह लगाएं जहां से वह सबसे अधिक बार गुजरते हों. इससे वह जल्दी अपना असली चेहरा पहचान पाएंगे.

कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच दिल्ली में लोकसभा चुनावों के लिए गठबंधन पर  सस्पेंस खत्म हो गया है। खबरों के मुताबिक, आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जानकारी दी है कि राहुल गांधी गठबंधन के लिए तैयार नहीं हुए।

आखिरकर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने गठबंधन से दूर रहने का फैसला किया है। पार्टी नेताओं से रायशुमारी के बाद राहुल गांधी ने तय किया कि दिल्ली में कांग्रेस अकेले ही चुनाव लड़ेगी।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठठ नेता और राज्यकसभा सांसद संजय सिंह ने शुक्रवार को इसका ऐलान किया। बता दें, इस सीट पर छठे चरण में 12 मई को वोट डाले जाएंगे। इसके लिए 16 अप्रैल को अधिसूचना जारी की जाएगी।

पंजाब के आम आदमी पार्टी के नेता हरिंदर सिंह खालसा ने गुरुवार को भाजपा का दामन थाम लिया है। दिल्ली में वित्त मंत्री अरूण जेटली की मौजूदगी में हरिंदर सिंह खालसा भाजपा में शामिल हुए।