Agriculture Bill

Farmers Protest: केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने यह चिट्ठी किसानों के नाम संबोधन में लिखी है। इस पत्र में नरेंद्र सिंह तोमर ने किसान भाईयों को संबोधित करते हुए लिखा है। सभी किसान भाइयों और बहनों से मेरा आग्रह ! "सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास" के मंत्र पर चलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हमारी सरकार ने बिना भेदभाव सभी का हित करने का प्रयास किया है। विगत 6 वर्षों का इतिहास इसका साक्षी है।

Agriculture bill: किसानों का आंदोलन (Farmers Protest) सोमवार को लगातार 12वें दिन जारी है। किसान संगठनों की ओर से केंद्र सरकार द्वारा लागू तीन कृषि कानूनों (New Farm laws) के विरोध में किसान देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर 26 नवंबर से डटे हुए हैं और 8 दिसंबर (मंगलवार) को भारत बंद का आह्वान किया है।

Farmers Protest: वहीं कृषि कानूनों (Agriculture Bill) के खिलाफ जारी किसान आंदोलन (Farmers Movement) को लेकर लंबे समय से लोगों के निशाने पर आ रहे भाजपा के नेता, गुरदासपुर पंजाब से सांसद और बॉलीवुड स्टार सन्‍नी देओल (Sunny Deol) ने भी अब अपनी तरफ से इस आंदोलन को लेकर बयान दिया है।

Rahul Gandhi to farmers: किसान कानून (Farmers Acts) को लेकर कांग्रेस समेत तमाम राजनीतिक दल लगातार केंद्र सरकार पर हमला बोल रही है। इस कड़ी में केंद्र सरकार की ओर से लाए गए नए कृषि कानूनों के विरोध में आवाज बुलंद करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने मोदी पर हमला बोला है।

Farmers Bill: प्रधानमंत्री ने विपक्षी पार्टियों, खासकर कांग्रेस (Congress) पर, आरोप लगाया था कि वह इन विधेयकों का विरोध कर किसानों को भ्रमित करने का प्रयास कर रही है। पीएम ने इस कृषि बिल (Agriculture Bill) का विरोध कर रहे लोगों को लेकर कहा था कि वह बिचौलियों के साथ किसानों की कमाई को बीच में लूटने वालों का साथ दे रही हैं। उन्होंने किसानों से आग्रह किया कि वे इस भ्रम में न पड़ें और सतर्क रहें।

Agriculture Bill: कृषि बिल (Agriculture Bill) को लेकर किसान प्रदर्शन (Farmer Protest) कर रहे हैं विपक्षी दलों की तरफ से विरोध जारी है। सरकार के द्वारा पास कराए गए इस बिल को पूंजीपतियों की मदद वाला बताया जा रहा है। कृषि उत्पादों (Agriculture Product) के न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को लेकर भी कहा जा रहा है कि सरकार इस खत्म करने के लिए यह बिल लाई है। जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) इस बिल को लेकर स्पष्ट तौर पर कह चुके हैं कि सरकार किसानों को बेहतर भविष्य देने और उनकी आय को दोगुना करने के लिए प्रतिबद्ध है। ऐसे में किसी भी हाल में एमएसपी को बंद नहीं किया जाएगा।

Agriculture Bill: देर-सबेर जब किसानों (Farmers) को वास्तविकता का ज्ञान होगा तो इन दलों का ‘वोट बैंक का गुणा-गणित’ गड़बड़ा जायेगा। वास्तव में, ये विधेयक कृषि-उपज (Agricultural produce) की विक्रय-व्यवस्था (Sales arrangement) को व्यापारियों/आढ़तियों से मुक्त कराने का मार्ग प्रशस्त करेंगे। साथ ही, बाजार के उतार-चढ़ावों से भी किसानों को सुरक्षा-कवच प्रदान करेंगे।

वहीं इस दौरान आम आदमी पार्टी (AAP) के सांसद संजय सिंह (Sanjay Singh) इस बिल के विरोध में उप-सभापति की कुर्सी के सामने आकर जोर-जोर से ताली पीटने लगे और बिल का पुरजोर विरोध किया। हंगामे के दौरान सदन के मार्शल संजय सिंह को उठाकर बाहर ले जाने लगे। हालांकि अन्य नेताओं ने इसका विरोध किया तो मार्शलों ने संजय सिंह को छोड़ दिया।

Sanjay Jha To Congress: एक तरफ जहां कृषि सुधार विधेयक (Agriculture Bill) को लेकर कांग्रेस पार्टी लगातार राजनीति करने में जुटी हुई है। इस बीच कांग्रेस पार्टी (Congress Party) से निष्कासित किए जा चुके नेता संजय झा (Sanjay Jha) ने कृषि अध्यादेश को लेकर एक बार फिर कांग्रेस को खरी-खरी सुनाई है।

New Farm Bills 2020 : केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने कृषि उपज विपणन समिति (APMC) द्वारा संचालित मंडियों के भविष्य पर शुक्रवार को कहा कि यह राज्य का मसला है और राज्य ही तय करेंगे कि मंडियां कैसे चलेंगी।