Agriculture Law

दिल्ली की सीमा पर केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों (Farmers Law) के खिलाफ प्रदर्शन (Farmer Protests) कर रहे किसान अड़े हुए हैं। ऐसे में सोमवार को किसान आंदोलन से जुड़ी याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) में सुनवाई हुई।

Farmers Protest: कांग्रेस (Congress) नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार द्वारा बनाए गए 3 कृषि कानूनों का विरोध कर रही है और कह रही है कि इससे देश के किसानों को नुकसान होगा। ऐसे में वह किसानों के साथ खड़े हैं। जबकि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ये तक बोल चुके हैं कि किसान किसी भी हालत में आंदोलन खत्म नहीं करेंगे। सरकार को अपने अंदर से ये बात निकाल देनी चाहिए की कृषि कानूनों को खारिज करने से कम पर किसान मानने वाले नहीं हैं। ऐसे में भाजपा की तरफ से वामदलों और कांग्रेस को इस आंदोलन में आग में घी डालने वाला बताया जा रहा है।

Farmers Protest: कृषि कानूनों को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) गुरुवार को  विजय चौक से लेकर राष्ट्रपति भवन तक मार्च करेंगे। इसकी जानकारी कांग्रेस सांसद के सुरेश (Congress MP K Suresh) ने दी है।

National Farmers Day: विपक्ष पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के नाम पर राजनीति करने वाले लोग जब सत्ता में आते थे तो चीनी मीलों के बंद होने पर चुप्पी साध लेते थे। लेकिन हमारी सरकार में कोरोना काल के दौरान भी चीनी मिलें चलती रही।

देश आज यानी बुधवार को राष्ट्रीय किसान दिवस (National Farmers Day) मना रहा है। हर साल 23 दिसंबर को देश के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह (Chaudhary Charan Singh) के जन्मदिन पर 'राष्ट्रीय किसान दिवस' मनाया जाता है।

Farmers Protest: एक तरफ जहां किसान नए कृषि कानून (Agriculture law) के खिलाफ इस कड़ाके की सर्दी में प्रदर्शन कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ कुछ किसान इन कानूनों का समर्थन भी कर रहे हैं। रविवार को पश्चिमी यूपी के किसानों ने कृषि भवन में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मुलाकात की और नए कानूनों का समर्थन करते हुए ज्ञापन सौंपा।

Farmers Protest: कृषि कानून (Agriculture law) के विरोध में किसान सड़कों पर हैं। आज किसान आंदोलन का 25 वां दिन है। ऐसे में किसानों की एक ही मांग है कि इन तीनों कृषि कानूनों को समाप्त किया जाए और फिर सरकार के साथ बैठकर वह बातचीत करेंगे।

Farmers Protest: केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने यह चिट्ठी किसानों के नाम संबोधन में लिखी है। इस पत्र में नरेंद्र सिंह तोमर ने किसान भाईयों को संबोधित करते हुए लिखा है। सभी किसान भाइयों और बहनों से मेरा आग्रह ! "सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास" के मंत्र पर चलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हमारी सरकार ने बिना भेदभाव सभी का हित करने का प्रयास किया है। विगत 6 वर्षों का इतिहास इसका साक्षी है।

कृषि कानूनों (Agricultural laws) के खिलाफ देश में किसानों का विरोध प्रदर्शन (Farmer Protest) आज 16वें दिन भी जारी है। किसान अभी भी अपनी मांगों पर डटे हुए हैं। ऐसे में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Tomar)ने इस मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

Bharat Bandh: नए कृषि कानूनों (New Farm laws) को लेकर किसानों का प्रदर्शन सोमवार को भी जारी है। वहीं कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों (Farmers Protest) और सरकार के बीच 9 दिसंबर को छठे दौर की बातचीत होने वाली है। लेकिन इससे एक दिन पहले किसानों (Farmers) ने 8 दिसंबर को 'भारत बंद' (Bharat Bandh) का ऐलान किया है।