AIIMS

देश में कोविड-19 महामारी के चरम पर होने के संबंध में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया द्वारा की गई भविष्यवाणी पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन सहमत होते नहीं दिख रहे हैं। हर्षवर्धन ने गुरुवार को बीमारी के भविष्य के परिदृश्य के बारे में कहा कि इस संबंध में फिलहाल कोई भी धारणा बनाना मुश्किल है।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में एक मेस कर्मचारी के बाद सोमवार को कोरोनावायरस से एक और स्टाफ सदस्य की मौत हो गई। मृतक, हीरालाल सीनियर सैनिटेशन सुपरवाइजर के रूप में काम करते थे और एम्स में राजकुमारी अमृत कौर ओपीडी में तैनात थे।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम्स में डॉक्टर नीतीश नायक की निगरानी में थे और उन्हें गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में रखा गया था। उनका कोरोनावायरस टेस्ट भी किया गया था। उन्हें आईसीयू से एक निजी वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया था। उनका कोरोना टेस्ट निगेटिव आया था।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह फिलहाल अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती हैं। सोमवार सुबह एम्स हॉस्पिटल ने उनसे जुड़ा हेल्थ अपडेट दिया था।

सीने में दर्द की शिकायत के बाद पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह को दिल्ली के AIIMS में भर्ती कराया गया है। जानकारी के मुताबिक तबीयत बिगड़ने के बाद पूर्व पीएम को शाम 8 बजकर 45 मिनट पर AIIMS में भर्ती कराया गया है।

AIIMS में कार्यरत 22 हेल्‍थकेयर स्‍टाफ कोरोनावायरस पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके बाद AIIMS में तैनात 100 से भी ज्‍यादा गार्ड को क्‍वारंटीन कर दिया गया है।

प्रबंधन ने लोगों से अपील की है कि स्थिति गंभीर होने पर ही एम्स में संपर्क करें। गैरजरूरी ओपीडी और ऑपरेशन कराने वाले मरीज कुछ समय तक घरों में ही आराम करें।

इटली से दिल्ली आए 15 सैलानी में कोरोनावायरस की पुष्टि हुई है। ऑल इंडिया मेडिकल साइंसेज (एम्‍स) ने इसकी पुष्टि कर दी है। इटली से भारत आने पर इन्हें अलग रखा गया था। दिल्ली आने पर एम्‍स में इनके सैंपल की जांच की गई तो सभी कोरोनावायरस पॉजिटिव पाए गए।

गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली में सीआरपीएफ (CRPF) के नए मुख्यालय की आधारशिला रखी। इस मौके पर उन्होंने कहा कि उनकी सरकार सीआरपीएफ के जवानों का देश के लिए दिए गए योगदान को ध्यान में रखते हुए ऐसी योजना पर काम कर रही हैं जिसके तहत 1 जवान 1 साल में 100 दिन परिवार के साथ बिता सके।

12 करोड़ रुपये एम्स के जिन दो खातों से निकाले गए हैं, उनमें से एक खाता एम्स के निदेशक के नाम और दूसरा खाता डीन के नाम का है। साइबर ठगी की इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम देने वाले पूरी तैयारी के साथ आए थे।