Air India

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के वुहान शहर में फंसे भारतीयों को निकालने में एयर इंडिया और स्वास्थ्य मंत्रालय के कर्मचारियों की सराहना की है। इस संदर्भ में प्रधानमंत्री ने एक प्रशंसा पत्र जारी किया है जिन्होंने इस ऑपरेशन में भाग लिया था। यह पत्र नागरिक उड्डयन मंत्री द्वारा ऑपरेशन में भाग लेने गए एयर इंडिया के कर्मियों को दिया जाएगा।

कोरोना वायरस का कहर धीरे-धीरे अब पूरी दुनिया में फैलता जा रहा है। इसी वायरस के कारण चीन में अबतक 490 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि 24 हजार से ज्यादा कन्फर्म केस सामने आ चुके हैं। ऐसी मुश्किल घड़ी में चीन ने अमेरिका के साथ खड़े होने का फैसला लिया है।

चीन में कोरोनावायरस के फैलने से मचे कोहराम के बीच भारत ने अपने नागरिकों को स्वदेश लाने की कवायद शुरू कर दी है। इन सबके बीच केरल में कोरोनावायरस के दूसरे मामले की पुष्टि हो गई है।

एयर इंडिया ने वुहान में फंसे भारतीयों को अपनी पहली विशेष उड़ान से निकालना शुरू कर दिया। इस विमान में डबल डेकर जंबो 747 के साथ 15 केबिन क्रू और पांच कॉकपिट क्रू के सदस्य थे। यह विमान आईजीआई (टी3) से वुहान के लिए शुक्रवार को रवाना हुआ था।

चीन से फैले कोरोना वायरस पर भारत बेहद अलर्ट है। भारत ने चीन में फंसे भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए कार्रवाई तेज कर दी है। चीन के हुबई प्रांत में कोरोना वायरस से जो भी भारतीय नागरिक प्रभावित हैं, उन सभी को निकालने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। बीजिंग का भारतीय दूतावास चीनी सरकार के संपर्क में है।

कुणाल कामरा ने एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें वो फ्लाइट में अर्नब गोस्वामी से सवाल पूछ रहे हैं और उनका वीडियो बना रहे हैं। कुणाल के वीडियो बनाने पर इंडिगो ने उनपर 6 महीने का बैन लगा दिया है।

राष्ट्रीय विमानन कंपनी को बेचने के अपने दूसरे प्रयास में सरकार ने सोमवार को एयर इंडिया में अपनी 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के लिए संभावित खरीदारों से एक्सप्रेशन ऑफ इंट्रेस्ट (ईओआई) आमंत्रित किया। इसके साथ ही पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी एयर इंडिया एक्सप्रेस व एआईसैट्स के लिए भी ईओआई आमंत्रित की गई है।

सरकार मार्च 2020 तक सरकारी एयरलाइन एअर इंडिया और ऑयल मार्केटिंग कंपनी भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड को बेचने की तैयारी कर चुकी है।

एयर इंडिया के प्रवक्ता ने यह भी कहा कि यात्रियों को चिंतित होने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि कंपनी ने यह सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाए हैं कि कोई भी उड़ान बाधित न हो।

खबर है कि लंबी दूरी के दो बोइंग 777-300ER विमान भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल होंगे ना कि एअर इंडिया को मिलेंगे। एक अखबार के मुताबिक विमान में एंटी मिसाइल तकनीक लगी होगी।