America

हमेशा भारत का बुरा सोचने वाले पाकिस्तान को शायद अब अकल आ गई है। कंगाली की हालत में पहुंच चुके पाकिस्तान को अब समझ में आने लगा है कि भारत से दुश्मनी मोल लेना उसे किस कदर भारी पड़ रहा है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बुधवार को कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दाओस में आयोजित विश्व आर्थिक मंच में पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया है कि वह जल्द ही पाकिस्तान का दौरा करेंगे।

अब FATF की अगली बैठक बीजिंग में होनी है। कुरैशी ने कहा था, ‘ये बैठक हमारे लिए बहुत अहम है। उसके बाद अप्रैल में पेरिस में निर्णायक बैठक होगी।

ईरान द्वारा इराक स्थित अमेरिकी बेस पर पिछले हफ्ते किए गए हमले में 11 अमेरिकी सैनिक घायल हुए थे। समाचार एजेंसी एएफपी न्यूज ने मध्य कमान के हवाले से यह जानकारी दी है। जानकारी के मुताबिक पिछले हफ्ते ईरान के हमले में 11 अमेरिकी सैनिक घायल हुए थे।

अमेरिका ने बगदाद एयरपोर्ट पर एक एयर स्‍ट्राइक किया था, जिसमें ईरान समर्थित कुर्द बल के प्रमुख मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत हो गई थी।

आरोप यह भी कि उन्होंने अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन किया है। पर ईरान की इस कार्रवाई से ब्रिटेन बेहद नाराज है। दरअसल ब्रिटेन के राजदूत विमान हादसे में मारे गए लोगों की शोक सभा में शामिल हुए थे।

कुरैशी की यह टिप्पणी ईरान द्वारा इराक में अमेरिका के सैन्य ठिकानों पर मिसाइल हमले किए जाने के दिन आई हैं। अमेरिका के हमले में तीन जनवरी को ईरानी मेजर जनरल कासिम सुलेमानी मारे गए थे।

अंतिम संस्कार की रस्में मंगलवार को सुलेमानी के दक्षिणी गृहनगर केरमन में भी होंगी, जहां उनके पार्थिव शरीर को बुधवार को सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा।

इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ ईरान के कल्चर व गाइडेंस उप मंत्री डॉ मोहसिन जावादी ने नई दिल्ली में 'पुस्तक निर्यात बाजार' पर एक सम्मेलन से इतर आईएएनएस से कहा कि भारत-ईरान के संबंध ईरान के सामने उत्पन्न संकट से स्वतंत्र हैं।

ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी के मारे जाने के बाद ईरान और अमेरिका में तनाव बढ़ गया है। ऐसे में दोनों देशों के प्रमुखों की तरफ से उग्र बयानबाजी देखने को मिल रही है।