amu

एएमयू में भड़काऊ भाषण देने वाले डॉ. कफील खान पर लगी रासुका में गृह मंत्रालय ने तीन महीने की बढ़ोतरी की है। डॉ. कफील पर 13 फरवरी को एनएसए लगाई गई थी। वह वर्तमान में मथुरा जेल में बंद हैं। कफील गोरखपुर में बच्चों के डॉक्टर रहे है। 

गौरतलब है कि शरजील पर जामिया मिलिया इस्लामिया और अलीगढ़ में कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने के मामले में राजद्रोह का मामला दर्ज किए गया था जिसके बाद से वो फरार हो गया था लेकिन दिल्ली पुलिस ने 28 जनवरी को बिहार के जहानाबाद से उसे गिरफ्तार किया था।

कोरोनावायरस महामारी के प्रकोप के चलते अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) ने अपनी सभी कक्षाएं 22 मार्च तक स्थगित कर दी हैं। इतना ही नहीं विश्वविद्यालय ने सेशनल परीक्षाएं भी स्थगित कर दी हैं।

सोशल मीडिया पर एक और कविता वायरल हो रही है जिसमें आमिर अजीज की उस कविता का जवाब दिया गया है। पहले आप उस कविता को सुनिए...जिसमें लिखा गया है "तुमसे सब याद रखा जाएगा?..."

भड़काऊ बयानों के आरोपी डॉ कफील खान पर योगी सरकार ने रासुका लगा दी है। कफील खान गोरखपुर मेडिकल कॉलेज गैस कांड में भी आरोपी हैं। नागरिकता कानून को लेकर जारी विरोध प्रदर्शन में भड़काऊ भाषण देने के आरोप में डॉक्टर कफ़ील पहले से मथुरा जेल में बन्द हैं।

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में इससे पहले इसी मुद्दे पर एक हजार छात्रों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पिछले दिनों एएमयू परिसर में हुए बवाल में आरएएफ की ओर से ये मुकदमा दर्ज कराया गया है।

जेएनयू का विवाद अब और आगे बढ़ता नजर आ रहा है। देशभर से 208 उप-कुलपतियों और प्रॉफेसरों ने इस सिलसिले में पीएम को चिट्ठी लिखी है। इन सभी ने पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर आरोप लगाया है कि उनके कैंपस में वामपंथी विचारधारा के छात्रों की ओर से आये दिन समस्या खड़ी की जा रही है।

शेहला रशीद इससे पहले भी नरेंद्र मोदी सरकार को लेकर कई बार आपत्तिजनक टिप्पणी कर चुकी हैं। वहीं सेना के खिलाफ किए गए उनके ट्वीट की वजह से भी उनपर मामला दर्ज हो चुका है।

एक अभूतपूर्व कदम में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के शिक्षकों, छात्रों व गैर-शिक्षण कर्मियों ने अपने कुलपति तारिक मंसूर और रजिस्ट्रार एस.अब्दुल हामिद को निष्कासित कर दिया।

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में इससे पहले मोहम्मद अली जिन्ना सरीखी कंट्रोवर्सी भी हो चुकी है। उस वक्त छात्रों ने मोहम्मद अली जिन्ना की फोटो के समर्थन में नारेबाजी की थी।