Anant kumar Hegde

कोरोनावायरस (Coronavirus) महासंकट के बीच सोमवार को संसद के मानसून सत्र (Parliament Monsoon Session) की शुरुआत हो चुकी है।

सूत्रों के अनुसार  पार्टी नेतृत्व सांसद अनंत हेगड़े के महात्मा गांधी पर दिए गए बयान से बेहद खफा है और इस बयान की सत्यता परखने के बाद पार्टी के नेतृत्व ने उन्हें अपने बयान को वापस लेने और बिना शर्त माफी मांगने को कहा है।

हेगड़े ने कहा, 'सीएम के पास करीब 40 हजार करोड़ की केंद्र की राशि थी। अगर कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना सत्ता में आते तो वे 40 हजार करोड़ का दुरुपयोग करते। यही कारण है कि केंद्र सरकार के इस पैसे को विकास के लिए इस्तेमाल में नहीं लाया जा सके, इसके लिए ड्रामा किया गया।'

अनंत कुमार हेगड़े ने ट्वीट करके कहा है, ''मैं खुश हूं कि करीब सात दशक के बाद आज की पीढ़ी नए बदलाव के साथ इस मुद्दे पर चर्चा कर रही है। इस चर्चा को सुनकर आज नाथूराम गोडसे अच्छा महसूस कर रहे होंगे।' 

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े मंगलवार रात एक हादसे में बाल-बाल बच गए। कर्नाटक के हलगेरी में उनके...