Anti CAA Protester

यासिर जिलानी ने कहा, "सीएए को लेकर देशभर में भ्रम फैलाया जा रहा है। हम अपने मंच के माध्यम से भ्रम को दूर करने की कोशिश कर रहे हैं। इस कानून से किसी भी मुसलमान भाई की नागरिकता नहीं जाएगी।"

प्रदर्शनकारियों से बातचीत करते हुए वार्ताकार साधना रामचंद्रन ने कहा कि आप ने हमे बुलाया था, इसलिए हम आए हैं। आप लोगों के जो मुद्दे हैं वो सुप्रीम कोर्ट पहुंचा चुका है। आपके सवाल सुप्रीम कोर्ट के सामने हैं। सुप्रीम कोर्ट में सीएए पर सुनवाई होनी है।

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष नड्डा ने कहा, "इस खुले मंच से मैं राहुल गांधी को सीएए पर दस लाइन बोलने की चुनौती देता हूं और आप दो पंक्तियों में यह बात बताएं कि सीएए का विरोध क्यों कर रहे हैं।"

पोस्टरों में अपनी तस्वीर देखकर दाढ़ी बनवाने वाले एक युवक ने स्वीकार किया कि उसने अपनी दाढ़ी बनवाई है। उसने कहा, "मैं किसी भी पथराव या हिंसा में शामिल नहीं था।

उत्तर प्रदेश में हुए हिंसक प्रदर्शन में 17 लोगों की मौत हुई थी। इस प्रदर्शन में वाहनों को आग के हवाले किया गया था और सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया गया था।