Arthritis

World Arthritis Day 2020: गठिया रोग (Arthritis) बुजुर्गो में होने वाली आम बीमारी है। इस बीमारी के मरीजों की संख्या दिनोदिन बढ़ती जा रही है। इस असाध्य रोग के कई मरीज (Arthritis Patients) अक्सर नीम-हकीमों पर भरोसा कर उनसे इलाज करा लेते हैं।

चिकित्सा विज्ञान (Medical Science) के अनुसार गठिया रोग (Arthritis) तब होता है जब शरीर में उत्पन्न यूरिक एसिड (Uric Acid) का उत्सर्जन समुचित प्रकार से नहीं हो पाता है। पानी में फ्लोराइड की मात्रा अधिक होने पर भी जोड़ सख्त होने लगते हैं। यहां जानें और समझें गठिया रोग का प्रमुख ज्योतिषीय कारण और निवारण के ज्योतिषीय उपाय को।

अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ. आनंद स्वरूप ने आईएएनएस से कहा, "ठंड के मौसम में हमारे दिल के आसपास रक्त की गर्माहट बनाए रखना आवश्यक होता है। इसके चलते शरीर के अन्य अंगों में रक्त की आपूर्ति कम हो जाती है।

कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर खाद्य और पेय पदार्थो को शामिल करना एक अच्छा कदम है। जैसे कि कम वसायुक्त दुग्ध उत्पाद यानी टोफू या सोया मिल्क, हरी पत्तेदार सब्जियां, फलियां, सैमन (एक प्रकार की मछली), बादाम इत्यादि को अपने दैनिक आहार में जरूर लें।

भारतीय महिलाओं में आर्थराइटिस के जल्दी होने की वजह पोषक तत्वों की कमी और मोटापा है।

चिकित्सकों का मानना है कि देश में अधिकतर लोग सोरायसिस से जुड़ी समस्याओं के बारे में पूरी तरह नहीं जानते हैं, जिसके दीर्घकालिक प्रभाव हो सकते हैं। उन्हीं में से एक समस्या सोरायटिक आर्थराइटिस की है, जिसके लक्षणों को आसानी से पहचाना जा सकता है।

नई दिल्ली। आर्थराइटिस में जोड़ों में सूजन आ जाती है, जिसके कारण मरीज को चलने-फिरने में परेशानी होने लगती है।...