Article 370

लोकसभा में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद के माहौल को लेकर आज एक बार फिर जमकर हंगामा हुआ। कांग्रेस के आरोपों का जवाब देते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अब हालात पूरी तरह से सामान्य हो गए हैं।

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि पूरे चुनाव प्रचार ने उन्हें सीएम उम्मीदवार के रूप में प्रचारित किया, और किसी ने कभी इस पर सवाल नहीं उठाया। हमने लगभग 70% सीटें जीतीं, जिस पर हम लड़े, और शिवसेना ने 42% सीटों पर जीत हासिल की।

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के सदस्‍य पीट ओल्‍सन ने अनुच्‍छेद 370 के महत्‍वपूर्ण प्रावधानों को निरस्‍त करने के भारत सरकार के फैसले की सराहना करते हुए कहा कि इस कदम से क्षेत्र में शांति व समानता स्‍थापित करने में मदद मिलेगी।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कश्मीर के मामले में आज बड़ा बयान दिया। उन्होंने कश्मीर में स्थितियां सामान्य होने के प्रमाण दिए। शाह ने साफ किया कि जम्मू-कश्मीर के हालात अब सामान्य हो गए हैं।

कश्मीर में इस बार बड़े ऑपरेशन की तैयारी है। आतंकियों को नेस्तनाबूद करने का कम्प्लीट मिशन तैयार है। सर्दियों में कश्मीर में जमने वाली बर्फ सुरक्षा बलों के लिए इस मिशन का बड़ा सहारा है।

गिरिराज सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार की ये दूसरी पारी उनके राजनीतिक जीवन की आखिरी पारी होगी। अब अयोध्या में राम मंदिर बनने का रास्ता साफ हो गया है तो अब गिरिराज सिंह ने नया ऐलान किया है

अक्सर अपने बयानों के कारण सुर्खियों में छाए रहने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने अब अपने पार्टी के नेताओं के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है। उनके निशाने पर आधे से ज्यादा कांग्रेसी हैं, जिनके बारे में उन्होंने कहा है कि वे नहीं जानते की आर्टिकल-370 है क्या?

पाकिस्तान लगातार सरहद पर अपनी कायराना हरकत से बाज नहीं आ रहा है। पाकिस्तान की तरफ से अचानक नियंत्रण रेखा (Loc) पर गोलाबारी शुरू कर दी। जिसके बाद भारतीय सेना ने भी पाकिस्तान की कार्रवाई का पूरी मुस्तैदी के साथ जवाब दिया।

भाजपा के दो मुख्य एजेंडे, जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाने और राम मंदिर फैसले के बाद सुरक्षा व शांति व्यवस्था कायम रखने के पीछे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल और उनकी एडवायजरी काउंसिल का अहम रोल रहा।

केंद्र ने इस एफिडेविट में कहा है कि अनुच्छेद 370 की समाप्ति का मतलब जम्मू कश्मीर का पूर्ण एकीकरण है। केंद्र ने यह भी बताया है कि विशेष दर्जा राष्ट्रीय हितों के खिलाफ था। इससे देश की एकता प्रभावित हो रही थी।