Article 370

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के केरन सेक्टर में भारतीय सेना ने शनिवार को पाकिस्तानी BAT (बॉर्डर एक्शन टीम) की घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम करते हुए 5 से 7 पाकिस्तानी सेना के BAT कमांडो/आतंकी को मार गिराया था।

जम्मू कश्मीर में हालात कुछ ऐसे बन गए हैं कि वहां अमरनाथ यात्रा को रोक दिया गया है। तीर्थयात्रियों को वापस जाने के निर्देश दिए गए हैं। इस अभूतपूर्व फैसले के बीच सरकार के कई कदमों की वजह से कश्मीर घाटी में अनिश्चितता और डर का माहौल है।

धारा 370 और 35-A पर आम जनता की राय, देखिये क्या कहा ?

35 ए का मामला इसलिए भी संवेदनशील हो जाता है क्योंकि आम कश्मीरियों के बीच में घुस कर बैठे कट्टरपंथी, पत्थरबाज और पाकिस्तानी परस्त लोग माहौल को लंबे समय तक बिगाड़ने की साजिश कर सकते हैं।

इसी मामले में कपिल मिश्रा ने अपनी राय रखी है और कहा है कि, ''डल झील में अगर छठ पूजा मनाया जाए तो कश्मीर का सारा मामला सुलझ जाएगा।

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि धारा 35ए के साथ छेड़छाड़ करना मतलब बारूद को हाथ लगाने के बराबर है। उन्होंने आगे कहा कि, अगर किसी ने 35ए को हाथ लगाया तो वो सिर्फ हाथ ही नहीं वो सारा जिस्म जलकर राख हो जाएगा।

मोदी सरकार ने संसद के पहले ही सत्र में कश्मीर पर वो कर दिखाया है जो सोच से भी परे है। ये इतिहास बनने सरीखा कदम है। इस कदम ने यह भी साफ कर दिया है कि कश्मीर को शेष भारत से अलग थलग करने वाला अनुच्छेद 370 अब बस कुछ ही दिनो का मेहमान है।

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कांग्रेस के साथ ही नेशनल कॉन्फ्रेंस को भी अपने निशाने पर लिया है और कहा कि, ये दोनों पार्टियां जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे का इस्तेमाल अपने फायदे के लिए करती है।

बिहार में सोमवार को लोकसभा चुनाव के चौथे चरण की वोटिंग होनी है, लेकिन अब तक नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड ने अपना घोषणापत्र जारी नहीं किया है। सूत्रों की मानें तो अनुच्छेद 370, अनुच्छेद 35A, समान नागरिक संहिता और राम मंदिर के मुद्दे को लेकर बीजेपी और जेडीयू के बीच में मतभेद है।

उमर अब्दुल्ला ने पीएम मोदी और अमित शाह को खुली चुनौती देते हुए कि है कि अगर पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह में हिम्मत है तो वे अनुच्छेद 370 को हटाकर दिखाएं।