Aurangzeb

दिल्ली में एक बार फिर से औरंगजेब के नाम पर कालिख पोती गई। इस बार यह काम दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने किया है। कमेटी ने दिल्ली की औरंगजेब लेन के बोर्ड पर काली स्याही पोत दी है।

औरंगजेब को भूल जाइए, यह कहना है काशी विश्वनाथ मंदिर के एक महंत का। गजनी के बाद से किसी ने इतने मंदिर नहीं तोड़े, जितने मोदी ने तोड़ दिए हैं' । पत्रकार आतिश तासीर ने वाराणासी के प्रसिद्ध काशी विश्वनाथ मंदिर के कॉरिडोर की तस्वीरें ट्वीट कर आरोप लगाए हैं।

सेना के पंजाब रेजीमेंट में शामिल हुए शाबिर और तारिक ने कहा कि हम भी अपने भाई की तरह अपने रेजिमेंट का नाम ऊंचा करेंगे और देश के लिए अपनी जान देने से भी पीछे नहीं हटेंगे। दोनों भाइयों ने यह भी ऐलान कर दिया कि वो आतंकियों से अपने बड़े भाई औरंगजेब की हत्या का भी बदला लेंगे।

वाराणसी में प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे कांग्रेस नेता अजय राय के समर्थन में नुक्कड़ सभा करने पहुंचे संजय निरुपम ने कहा, ''वाराणसी के लोगों ने जिस व्यक्ति को चुना वे औरंगजेब के आधुनिक अवतार हैं। क्योंकि यहां पर कॉरिडोर के नाम पर सैकड़ों मंदिरों को तुड़वाया गया और विश्वानाथ मंदिर में दर्शन के नाम पर 550 रूपए का फीस लगाया गया।''

नई दिल्ली। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष और पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तुलना मुगल सम्राट...

जम्मू। रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को शहीद जवान औरंगजेब के घर जाकर उनके परिजनों से मुलाकात की। जम्मू एवं कश्मीर...

नई दिल्ली। जम्मू- कश्मीर के श्रीनगर में भारतीय सेना के शहीद जवान औरंगजेब को शुक्रवार श्रद्धांजलि दी गई। गुरुवार को...

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों द्वारा अपहरण के बाद मारे गए सेना के जवान औरंगजेब के परिजनों का गुस्सा...