Australia

इंग्लैंड और न्यूजीलैंड की टीमें अभी तक एक बार भी वनडे विश्व कप नहीं जीत सकी हैं। इंग्लैंड ने इससे पहले तीन बार फाइनल में कदम रखा था लेकिन जीत नहीं मिली थी। वहीं न्यूजीलैंड 2015 में आस्ट्रेलिया से फाइनल में मात खा गई थी, लेकिन अब दोनों टीमों के पास पहली बार विश्व विजेता बनने का मौका है।

फाइनल में रविवार को इंग्लैंड का सामना न्यूजीलैंड से होगा जिसने भारत को हरा फाइनल में प्रवेश किया। इंग्लैंड ने 27 साल बाद विश्व कप के फाइनल में जगह बनाई है।

टूर्नामेंट से पहले इंग्लैंड टीम को खिताब का सबसे मजबूत दावेदार माना जा रहा था। उसने शुरुआत भी अच्छी की। दूसरे मैच में हालांकि उसे पाकिस्तान से मात खानी पड़ी लेकिन इसके बाद उसने लगातार तीन मैच जीते।

आस्ट्रेलियाई टीम वर्ष 1975, 1987, 1996, 1999, 2003, 2007 और 2015 के फाइनल में पहुंच चुकी है, जिसमें से वह 1975 और 1996 में ही उपविजेता रही है। बाकी हर बार उसने खिताब पर कब्जा जमाया है।

आस्ट्रेलिया के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर ने गुरुवार को इसकी पुष्टि की। हैंडस्कॉम्ब को पिछले सप्ताह चोटिल हुए बाएं हाथ के अनुभवी बल्लेबाज शॉन मार्श के स्थान पर टीम में शामिल किया गया था।

पूर्वी जावा की राजस्व एजेंसी के एक प्रवक्ता ने एएफपी को बताया कि सुराबाया नगर में आठ कंटेनर जब्त किए गए जिसमें रद्दी कागज की जगह खतरनाक पदार्थ के साथ-साथ प्लास्टिक की बोतलें और इस्तेमाल हुए डायपर, इलेक्ट्रॉनिक कचरे और कैन थे।

वॉर्नर ने इंस्टाग्राम पर पत्नी और तीनों बेटियों की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, "हमने अपने परिवार की नई सदस्य इसला रोज वॉर्नर का कल देर रात 10:30 बजे स्वागत किया। कैंडिस यह अद्भुत था। माता-पिता बहुत अच्छा कर रहे हैं और उसकी बड़ी बहनें बेहद खुश हैं। प्राउड डैड।"

जोंस ने कहा कि इस क्रम पर खेलने के लिए विजय शंकर बिल्कुल भी उपयुक्त नहीं हैं और साथ ही जोंस ने रवींद्र जडेजा को भी खिलाए जाने की वकालत की। जोंस का मत है कि ऐसे में जबकि इंग्लैंड की पिचें अब धीमी होती जा रही हैं, एक स्पिननर के तौर पर जडेजा भारत के लिए काफी उपयोगी साबित होंगे।

फिंच ने सेमीफाइनल में जाने पर कहा है कि टीम का एक लक्ष्य पूरा हुआ अब बाकी का काम बाकी है। फिंच ने साथ ही इंग्लैंड के पांच विकेट लेने वाले बाएं हाथ के युवा तेज गेंदबाज जेसन बेहरनडॉर्फ और डेविड वार्नर की जमकर तारीफ की।

फिंच ने विश्व कप को लेकर कहा, "हमारे पास जो है हम उसे लेकर आत्मविश्वास से भरे हैं। हमने अतीत में पांच विश्व कप जीते हैं जिससे हमें काफी कुछ पता चलता है कि किस तरह आगे जाना है, मुझे नहीं लगता कि हर रणनीति हर दिन सफल होती है।