Australia

न्यूज डॉट कॉम डॉट एयू ने स्टीव स्मिथ के हवाले से लिखा, "मेरे दिमाग में कुछ चीजें चल रही थीं। खासकर जब मुझे गेंद लगी तो मेरे दिमाग में अतीत छा गया था। आप समझ गए होंगे मेरा क्या मतलब है.. कुछ साल पहले की बात याद आ गई थी।"

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली एशेज सीरीज में खेली जा रही क्रिकेट से काफी ज्यादा प्रभावित हैं। गांगुली ने कहा है कि आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही एशेज ने टेस्ट क्रिकेट को जिंदा रखा है।

आखिरी दिन इंग्लैंड की कोशिश आस्ट्रेलिया को मजबूत लक्ष्य दे उसे जल्दी ऑल आउट करने की होगी वहीं आस्ट्रेलिया इंग्लैंड के बाकी बचे छह विकेट जल्दीन निकाल मामूली लक्ष्य हासिल करने की फिराक में होगी।

मोर्गन को विश्वकप में वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच के दौरान चोट लग गई थी और फिर इसके बाद उन्हें मैदान छोड़कर बाहर जाना पड़ा था। मोर्गन शुक्रवार को लॉर्ड्स मैदान में मौजूद थे, जहां इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के बीच एशेज सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच जारी है।

आर्चर ने कहा, "मैंने सफेद गेंद से जितनी क्रिकेट खेली है उससे ज्यादा लाल गेंद से खेली है। यह मेरा पसंदीदा प्रारुप है। लाल गेंद से खेली जाने वाली क्रिकेट टीवी पर ज्यादा दिखाई नहीं जाती इसलिए लोगों को पता नहीं है। स्कोरकार्ड को देखकर आपको असल कहानी पता नहीं चलती कि गेम किस तरह से आगे बढ़ा। जब मैंने ससेक्स के लिए खेलना शुरू किया था तब मैंने सबसे पहले इसी प्रारुप में शुरू किया था।"

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, मोइन ने बर्मिघम में खेले गए पहले टेस्ट मैच में 172 रन देकर मात्र तीन विकेट लिए थे। इस मैच में इंग्लैंड को 251 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। 

स्मिथ की एक साल के प्रतिबंध के बाद आस्ट्रेलियाई टीम में वापसी हुई है। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ पहले एशेज टेस्ट की दोनों पारियों में शतक लगाकर आस्ट्रेलिया को 251 रन से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी।

स्मिथ ने मैच की दोनों पारियों में शतक जमाया। उन्होंने पहली पारी में 144 और दूसरी पारी में 142 रन बनाए। पैन ने मैच के बाद कहा, "उनके बारे में कहने के लिए मेरे पास शब्द नहीं है। शायद मैंने अब तक का सबसे शानदार प्रदर्शन देखा है।"

किर्जियोस ने फाइनल में रूस के डेनियल मेडवेडेव को 7-6 (8-6) 7-6 (7-4) से मात देकर यह खिताब अपने नाम किया है। मैच के बाद किर्जियोस ने कहा कि यह उनके जीवन के सबसे बेहतरीन सप्ताहों में से एक रहा है।

वे मुस्लिम महिलाओं के बुर्के की भी आलोचना भी कर चुके हैं। इस बयान के कारण ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में उन पर हमला भी हो चुका है। इमाम ताहिदी वैश्विक मंचों पर शरिया कानून अपनाने वाले मुस्लिम देशों की खुलकर आलोचना करते आए हैं।