award

बॉलीवुड के शहंशाह और विश्व प्रख्यात अभिनेता अमिताब बच्चन को दादा साहब फाल्के अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा। सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी है।

90 के दशक से 'दीवाना' 'दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे' 'माय नेम इज खान' जैसी फिल्मों से लोगों का मनोरंजन करने वाले शाहरुख ने कहा, "मैं इस सम्मान के लिए विनम्र और आभारी हूं।

अभिनेता रणवीर सिंह और आलिया भट्ट अभिनीत 'गली बॉय' स्ट्रीट रैपर्स की जिंदगियों पर आधारित है। फिल्म ने भारतीय और वैश्विक बाजार में बेहतरीन प्रदर्शन किया है।

कॉलेज से ड्रामा के लिए मिला अवॉर्ड से सुहाना के हौसले जरूर बुलंद हो जाएंगे। सुहाना के बॉलीवुड डेब्यू पर पिछले कुछ दिनों से खूब चर्चा चल रही है। शाहरुख खान से जब इस विषय में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सुहाना पहले एक्टिंग की तालीम हासिल करेंगी इसके बाद वे बॉलीवुड में कदम रखेंगी।

ब्रुनेई के सुल्तान ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा दी गई मानद उपाधि को लौटा दिया है। ब्रुनेई के विवादित एलजीबीटी विरोधी कानून पर विश्वविद्यालय द्वारा चिंता जताए जाने के बाद उन्होंने उपाधि वापस की है। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, विश्वविद्यालय ने गुरुवार को कहा कि नए कानून के बारे में चिंता जताए जाने के बाद इसकी समीक्षा की गईा 

अनिल कपूर को दशक भर से बच्चों के अधिकारों को बढ़ावा देने, यूरोपीय संघ को अपना सहयोग देने और भारत में लड़कियों के अधिकारों के लिए योजना बनाने के लिए सम्मानित किया जाएगा।"

सानिया के अलावा मंदिरा बेदी और मॉडल तथा अभिनेत्री सेलिना जेटली को भी सम्मानित किया गया। इसके अलावा भारत से अडानी रियल्टी, रेवा यूनिवर्सिटी, रुबन मैमोरियल हॉस्पिटल एवं अपोलो लॉजीसॉलूशन्स लिमिटेड तथा राजा कंवर को दुनिया के सबसे बड़े ब्रांड एवं लीडर्स के रूप में सम्मानित किया गया।

अमेरिकी गायिका व अभिनेत्री लेडी गागा ने सर्वश्रेष्ठ मौलिक गीत श्रेणी में 'शैलो' के लिए ऑस्कर अवॉर्ड जीता है। यह हिट फिल्म 'अ स्टार इज बॉर्न' का लोकप्रिय गीत है। अवॉर्ड गागा और सह-लेखकों मार्क रॉनसन, एंड्रयू व्याट और एंथोनी रोसोमैंडो के खाते में गया। अ

अमेरिकी अभिनेता रामी मालेक को फिल्म 'बोहेमियन रैपसोडी' में अपने बेहतरीन अभिनय के लिए लीडिंग रोल में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार मिला है। फिल्म में उन्होंने दिवंगत फ्रेडी मर्करी की भूमिका को बखूबी निभाया है। फिल्म की कहानी मर्करी और उनके बैंड क्वीन के इर्द-गिर्द घूमती है।

अभिनेता मनोज वाजपेयी ने कहा कि वह वास्तव में खुश हैं कि देश के सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों में से एक के लिए उनके नाम की घोषणा के बाद सोशल मीडिया पर किसी ने उनकी आलोचना नहीं की।