Ayodhya Diwali

इस बार अयोध्या में 5 लाख 51 हजार दीए जलाए गए जो खुद में एक रिकॉर्ड है। शुरुआत में राम का अवतार में कलाकार को होलिकॉप्टर से उतारा गया फिर योगी आदित्यनाथ ने राम और सीता की आरती कर इस कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

भगवान राम की नगरी अयोध्या में शनिवार को तीसरा दीपोत्सव आयोजित होगा। इसके पहले यहां के साकेत महाविद्यालय से भगवान की लीला पर आधारित 11 झांकियां निकाली गईं।

सभी घाटों और पूरी राम नगरी में पांच लाख 51 हजार दीप जलाए जाएंगे। चार लाख दीप अकेले रामकी पैड़ी के घाटों पर जलेंगे। बाकी एक लाख 51 हजार दीप 11 दूसरे चुनिंदा जगहों पर जगमग होंगे।

इस बार 7 देशों की रामलीला भी लोगों के आकर्षण का केंद्र बन रही है। इस बार भगवान राम के जन्म से लेकर राज्याभिषेक तक के पूरे दृश्य को ग्यारह झांकियों के रूप में तैयार किया गया है, जिसे अयोध्या की सड़कों पर दिखाया जा रहा है।

अयोध्या में इस बार की दीपावली का विशेष महत्व है। उम्मीद की जा रही है कि राम जन्मभूमि को लेकर जल्दी फैसला आएगा। इसलिए भी अयोध्या राम भक्ति में डूबी हुई है। सीएम योगी के विशेष निर्देश पर अयोध्या की दीपावली को राममय करने की योजना अंतिम चरण में है।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने दिवाली को लेकर नया फरमान जारी किया है। सरकार के आदेश के अनुसार दिवाली के दौरान सड़क किनारे मुर्गे और मीट की दुकानों को बंद रखने का आदेश जारी किया गया है।