Azam Khan

जौहर यूनिवर्सिटी पर आजम खान के परिवार का कब्जा है। सपा सांसद आजम खान रामपुर में स्थित जौहर विवि के संस्थापक और कुलपति हैं। उनके बेटे अब्दुल्ला आजम विवि के सीईओ और ट्रस्ट के सदस्य हैं। आजम खान की पत्नी विधायक डॉ. तजीन फात्मा भी ट्रस्ट की सदस्य हैं। ये सभी लोग फर्जीवाड़ा मामले में जेल में बंद हैं।

आजम खान की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। जल निगम भर्ती घोटाले की जांच में आजम दोषी करार दिए गए हैं।योगी सरकार ने आजम की अगुवाई में सपा सरकार में हुई JE व क्लर्क की भर्तियां रद्द कर दी हैं।

समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान के दिन अच्छे नही चल रहे। उत्तर प्रदेश विधानसभा सचिवालय ने उनकी विधायकी खत्म करने का आदेश जारी कर दिया है।

रामपुर में बुधवार को जालसाजी के मामले में आत्मसमर्पण करने वाले समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान को गुरुवार की सुबह सीतापुर जेल में स्थानांतरित कर दिया गया है। उनकी पत्नी तंजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम को भी सीतापुर जेल में भेज दिया गया है।

यूपी के रामपुर से लोकसभा सांसद आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अब्दुल्ला आजम की विधायकी रदद् करने का आदेश दिया था जिसके खिलाफ अब्दुल्ला ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, अब SC ने भी इस आदेश पर रोक लगाने से मना कर दिया है।

अब्दुल्ला आजम के निर्वाचन के खिलाफ तत्कालीन बसपा नेता नवाब काजिम अली ने याचिका दायर की थी। नवाब अब कांग्रेस में हैं। अली ने अपनी याचिका में कहा था, “साल 2017 में चुनाव के समय अब्दुल्ला की आयु 25 साल से कम थी, लेकिन चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने फर्जी दस्तावेज पेश किए।”

समाजवादी पार्टी (सपा) सांसद आजम खां के रामपुर स्थित आवास के बाहर गुरुवार को पुलिस ने धारा 82 के तहत कुर्की के नोटिस चस्पा कर दिए गए। इस बार तीन नोटिस लगाए गए हैं। साथ ही इलाके भर में रिक्शे और माइक से सपा सांसद की संपत्ति कुर्की की मुनादी भी कराई गई।

समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान को आज बड़ा झटका लगा है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सोमवार को समाजवादी पार्टी (सपा) के सांसद आजम खान को बड़ा झटका देते हुए उनके बेटे अब्दुल्ला आजम का निर्वाचन रद्द कर दिया।

प्रशासन ने रामपुर के अलग-अलग जगह से छह फर्जी मतदान एजेंटों को हिरासत में ले लिया है। इसके साथ ही रामपुर के रज़ा डिग्री कॉलेज से भी दो फर्जी एजेंट पकड़े गए हैं।

रामपुर के जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह ने आईएएनएस को बताया, "अब तक जो जानकारी मिली है एक निर्दलीय उम्मीदवार जावेद के सारे मतदान एजेंट फर्जी हैं। इनमें से 20 एजेंट को गिरफ्तार किया गया है।