Bajaj Auto

देश में कोरोना महामारी (Coronavirus) और लॉकडाउन (Lockdown) के चलते ऑटो इंडस्ट्री (Auto Industry) पर भारी मार पड़ी। वहानों की ब्रिकी लंबे समय रुकी रही जिससे इस इंडस्ट्री की हालत पलली हो गई। जिसके चलते वाहन उद्योग को काफी बड़ा फाइनेंशियल घाटा हुआ। लेकिन अब लग रहा है कि कोरोना के प्रकोप से ऑटो इंडस्ट्री उभर गई है।

Bajaj: प्‍लेटिना 100 किक स्‍टार्ट (Platina 100 Kick Start) में 102सीसी का इंजन है। इस मोटरसाइकिल में 4-स्‍पीड गियरबॉक्‍स भी दिया गया है। इसके साथ ही यह 7500 आरपीएम पर 7.9पीएस की पावर और 5500 आरपीएम पर 8.3एनएम का टॉर्क पैदा करता है।

दोपहिया वाहन निर्माता कंपनी बजाज ऑटो (Bajaj Auto) ने नवंबर के महीने में कुल बिक्री (Bajaj Auto sales) में 5 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। ये जानकारी कंपनी ने मंगलवार को दी है।

टू-व्हीलर कंपनी बजाज ऑटो (Bajaj Auto) ने बजाज प्लेटिना 100 ES (Bajaj Platina 100 ES) का नया वेरिएंट लॉन्च (New variant launch) कर दिया है। साथ ही इसकी कीमतों की भी घोषणा कर दी गई है।

ऑटो मोबाइल कंपनी बजाज ऑटो ने अपनी एवेंजर स्ट्रीट 160 की कीमत में इजाफा कर दिया है। यहां हम आपको बता रहे हैं कि एवेंजर स्ट्रीट 160 में क्या कुछ खास दिया गया है और कीमत कितनी है।

दोपहिया और तिपहिया वाहन निर्माता कंपनी बजाज ऑटो ने गुरुवार को कहा कि उसने निर्यात सहित कुल बिक्री में 31 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की है। जून 2020 में सिर्फ 2,78,097 वाहनों की बिक्री हुई।

लॉकडाउन के चलते बजाज ऑटो ने अपने इलेक्ट्रिक स्कूटर 'बजाज चेतक इलेक्ट्रिक' का प्रॉडक्शन और इसकी सेल बंद करनी पड़ी थी। लेकिन अब कंपनी ने इस स्कूटर की ऑनलाइन सेल फिर शुरू कर दी है।

देश की जानी-मानी दोपहिया वाहन निर्माता कंपनी बजाज ऑटो ने अपने वाहनों की कीमतें बढ़ा दी हैं। पुणे स्थित ऑटो निर्माता ने पिछले महीने अपने बाइक्स की कीमतों में इजाफा किया था जिसके बाद दूसरी बार कीमतें बढ़ाई गई हैं।

कोरोना जैसी महामारी से ऑटो इंडस्ट्री बुरी तरह प्रभावित हुई है। देश में लॉकडाउन के चलते कंपनियां अप्रैल में व्हीकल नहीं बेच सकी हैं। ऐसे माहौल में देश की जानी-मानी ऑटोमोबाइल कंपनी बजाज ऑटो ने अपने कर्मचारियों को तोहफा दिया है।

देश में कोरोनावायरस के प्रकोप को देखते हुए लॉकडाउन घोषित किया गया। जिसके तहत सभी ऑटोमोबाइल डीलरशिप बंद रहे। जिसकी वजह से इन कंपनियों को काफी नुकसान झेलना पड़ा।