Banaras

देश के अति-प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में से काशी हिंदू विश्वविद्यालय की स्थापना महामना पंडित मदन मोहन मालवीयजी द्वारा सन् 1916 में की गयी थी।

पीएम ने कहा कि देश में इस समय त्योहार का वातावरण है। उत्साह, उमंग का माहौल है। आप सब दीपावाली, छठ पूजा जैसे उत्सवों की तैयारी में जुटे होंगे। इस अवसर पर आप सभी से मिलना मेरे लिए भी खास हो जाता है।

दरअसल, पीएम मोदी ने एक ट्वीट किया जिसमें बताया गया कि वो नमो एप के जरिए बनारस की जनता के साथ 24 अक्टूबर को संवाद करेंगे। इसके बाद बनारस की तमाम मुस्लिम महिलाओं ने भी नमो एप की डाउनलोड किया

दरअसल पीएम मोदी चाहते हैं कि इस कॉरिडोर को भव्य रूप दिया जाए, इसको लेकर अधिकारियों ने कहा कि हमारा पूरा प्रयास है कि इसके निर्माण में किसी भी तरह की कोई कमी न रह जाए। सूत्रों की मानें तो कॉरिडोर निर्माण से जुड़े अधिकारियों को शासन स्तर से खुली छूट दे दी गई है।

इन क़ैदियों के बनारस पहुंचते ही इन्हें कड़ी सुरक्षा के बीच सड़क के रास्ते शिवपुर सेंट्रल जेल लाया गया। इस बीच इस रास्ते पर किसी को भी निकलने की इजाज़त नही दी गयी।

पीएम मोदी को हर रक्षाबंधन बनारस की मुस्लिम बहनों की भेजी राखी का इंतज़ार होता है। बनारस का मुस्लिम महिला फाउंडेशन, साल 2014 से ही इस सिलसिले को बनाए हुए है।

पीएम मोदी 6 जुलाई को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंच रहे हैं। मोदी काशी में बीजेपी के जिस सदस्यता अभियान का शुभारंभ करेंगे, मुसलमान भी उसकी अहम कड़ी होंगे।

नई दिल्ली। पटना साहिब से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री शत्रुघ्न सिन्हा ने यहां मंगलवार को...

नई दिल्ली।बता दें कि बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया है जो प्रधानमंत्री नरेंद्र...

नई दिल्ली। बनारस अब सिर्फ बनारस नहीं रह गया, बल्कि ये अब पीएम मोदी का बनारस हो चुका है, क्योंकि...