Biplab Kumar Deb

त्रिपुरा में कोरोना मरीजों की संख्या करीब एक महीने पहले एकाएक बढ़ी थी। लेकिन अब इस पर काफी हद तक काबू पा लिया गया है।

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने कहा है कि बाहर से लौटे लोग राज्य की पूंजी हैं, बोझ नहीं। सरकार ने दूसरे राज्य से लौटे लोगों का डाटा बैंक बनाने का काम शुरू कर दिया है।

राज्य में कोविड-19 को सीमित करने को लेकर मुख्यमंत्री विप्लब देब बेहद खुश हैं और उन्होंने इसी को लेकर एक ट्वीट किया है।

त्रिपुरा के सीएम बिप्लब कुमार देब एक आम आदमी की छवि रखते हैं। बिप्लब देब की पृष्ठभूमि बहुत ही सामान्य रही है। अक्सर वो आम लोगों के बीच बिना किसी सिक्योरिटी के देखे गए हैं।

त्रिपुरा ने मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब के नेतृत्व में प्रदर्शन और विकास के मामले में राष्ट्रीय स्तर पर कई सफलता दर्ज की है। जिसका ताजा उदाहरण है इंडिया टुडे का स्टेट ऑफ़ स्टेट्स कॉन्क्लेव 2019 में दिया गया पुरस्कार।

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने अपना एक महीने का वेतन 29 हजार रुपये बेसहारा बच्चों की देखभाल करने वाले एक संगठन को दान कर दिया।

नई दिल्ली। कुपोषण से लड़ने और रोजगार पैदा करने के लिए त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने पांच हजार...

नई दिल्ली। त्रिपुरा में भाजपा सरकार के गठन से पहले अपराध की घटनाएं किसी से छुपी नहीं है। त्रिपुरा में...

नई दिल्ली। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने गांधी जयंती पर त्रिपुरा यूनिवर्सिटी में नशा मुक्ति कार्यक्रम में भाग...

अगरलता। सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) ने यहां ग्राम पंचायत और पंचायत समिति की 96 प्रतिशत सीटों पर निर्विरोध जीत दर्ज...