blog

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन इन दिनों कोरोनावायरस के चलते अस्पताल में भर्ती हैं। जिस समय अमिताभ बच्चन को प्यार, प्रार्थना और शुभकामनाओं की जरूरत है, ऐसे समय में सोशल मीडिया पर कुछ लोग हैं जोकि नफरत फैला रहे हैं।

राजनीति स्वयं से दूर की यात्रा है। यहां स्वयं के प्रगति आस्तिक भाव नहीं है। हम स्वयं अपनी प्रशंसा करते हैं, प्रशंसा सुनने के लिए तमाम उपाय करते हैं। बेशक अपना चित्र देखकर सब प्रसन्न होते हैं। लेकिन हम अपना बड़ा चित्र चाहते हैं।

ऋग्वेद के रचनाकाल के पहले भी एक संस्कृति थी, सभ्यता थी और दर्शन भी था। ऋग्वेद में उपलब्ध संस्कृति व सभ्यता के तत्व पूर्व वैदिक काल का विस्तार हैं।

ऋग्वेद की इस अनुभूति का विस्तार अथर्ववेद में भूमि सूक्त है। यहां पृथ्वी हमारी माता है हम सब इसके पुत्र हैं - पुत्रो अहम् पृथित्याः। ऋग्वेद की इसी प्रेरणा से गंगा यमुना आदि नदियां माता हैं।

बिग बी ने लिखा, "'डॉन' एक ऐसा नाम था, जिसे मार्केट में किसी की मंजूरी नहीं मिली थी। वे (निर्माता) कभी नहीं समझ पाए कि इसका मतलब क्या है और उन्हें कभी ऐसा नहीं लगा कि 'डॉन' जैसा नाम किसी हिंदी फिल्म के शीर्षक के लिए सही है।

अमिताभ बच्चन के पर्सनल ब्लॉग ने बुधवार को 11 साल पूरे कर लिए। इस उपलब्धि के साथ ही मेगास्टार ने इसकी निरंतरता के लिए प्रार्थना की। अमिताभ ने साल 2008 के अप्रैल से ब्लॉग लिखना शुरू किया था।

अमिताभ बच्चन ने रियल्टी गेम शो 'कौन बनेगा करोड़पति' (केबीसी) के नए सीजन की तैयारी शुरू कर दी है। अमिताभ ने अपने ब्लॉग में लिखा, "केबीसी की तैयारी शुरू और इसके परिचय, सिस्टम, नए इनपुट को सीखने, अभ्यास करने और दूसरे साल के लिए तैयारी चल रही है।"

नई दिल्ली। वित मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर तीखा प्रहार करते हुए अपने फेसबुक...