Business

अगले सप्ताह शेयर बाजार की चाल आर्थिक आंकड़े, प्रमुख कंपनियों के वित्त वर्ष 2018-19 की तीसरी तिमाही के नतीजे, वैश्विक बाजारों के रुख, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) और घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) द्वारा किए गए निवेश, डॉलर के प्रति रुपये की चाल और कच्चे तेल की कीमतें मिलकर तय करेंगी।

भारतीय रिजर्व बैंक ने बीते गुरुवार को रेपो रेट में कटौती की। इसके बाद ग्राहकों को उम्मीद थी कि बैंक ब्याज दरों में कटौती करेंगे। उम्मीद के मुताबिक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने अपने ग्राहकों को तोहफ दिया है।

देश के शेयर बाजारों में गुरुवार को सपाट कारोबार हुआ। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 4.14 अंकों की मामूली गिरावट के साथ 36,971.09 पर और निफ्टी 6.95 अंकों की मामूली तेजी के साथ 11,069.40 पर बंद हुआ।

केंद्र सरकार ने गुरुवार को भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा अपने मौद्रिक नीति रुख को बदलने और वाणिज्यिक बैंकों के लिए प्रमुख ब्याज दर को घटाकर 6.25 फीसदी करने का स्वागत किया है।

देश के शेयर बाजारों में बुधवार को तेजी रही। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 358.42 अंकों की तेजी के साथ 36,975.23 पर और निफ्टी 128.10 अंकों की तेजी के साथ 11,062.45 पर बंद हुआ।

देश के शेयर बाजारों में मंगलवार को तेजी रही। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 34.07 अंकों की तेजी के साथ 36,616.81 पर और निफ्टी 22.10 अंकों की तेजी के साथ 10,934.35 पर बंद हुआ।

बीते सप्ताह के आखिरी सत्रों में अंतरिम बजट की घोषणाओं से बाजार में तेजी का रुख बना रहा, लेकिन इस बजटीय प्रावधानों को समझने के बाद इस सप्ताह इस बाजार की प्रतिक्रिया देखने को मिल सकती है।

पेट्रोल के दाम रविवार को फिर दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में 10 पैसे, जबकि चेन्नई में 11 पैस प्रति लीटर घट गए। पेट्रोल के भाव में लगातार चौथे दिन कटौती की गई है, जबकि डीजल के दाम लगातार दूसरे दिन स्थिर रहे।

पेट्रोल और डीजल के दाम में शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन गिरावट आने से उपभोक्ताओं को राहत मिली है। इससे लोगों ने राहत की सांस ली है। पेट्रोल और डीजल का उपयोग हर लोगों की रोज की जरूरतों में शामिल है।

देश के शेयर बाजारों में गुरुवार को तेजी रही। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 665.44 अंकों की तेजी के साथ 36,256.69 पर और निफ्टी 179.15 अंकों की तेजी के साथ 10,830.95 पर बंद हुआ।