cab

 उत्तर प्रदेश में नागरिक संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ हुए हिंसक विरोध प्रदर्शन में 12 लोगों की मौत के बाद प्रारंभिक जांच से पता चला है कि बड़े पैमाने पर हुई हिंसा का तार पश्चिम बंगाल से जुड़ा है। लखनऊ में गुरुवार को हुई हिंसा व आगजनी में राज्य की संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले कोलकाता के कम से कम छह लोग शामिल थे।

नागरिकता संशोधन कानून 2019 के समर्थन में इस तरह उतरे लोग, लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में नागरिकता (संशोधन) कानून के खिलाफ हो रहे हिंसक प्रदर्शनों के चलते 22 दिसंबर को प्रस्तावित उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी टीईटी) 2019 को फिलहाल स्थगित कर दिया गया है।

देश के वर्तमान हालात पर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि यह सरकार की जिम्मेदारी है कि वह लोगों की बात सुने। अभी जो हो रहा है वो लोकतंत्र में अस्वीकार्य है।

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस मुख्यालय में नागरिकता कानून को लेकर हो रही बहस के दौरान दो प्रदेश प्रवक्ता आपस में ही भिड़ गए। इस मामले की शिकायत प्रियंका वाड्रा तक पहुंच गई है।

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शन देशभर में देखे जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में प्रदर्शनकारियों ने जमकर उत्पात मचाया। इस उत्पात में प्रदर्शनकारियों ने 20 मोटरसाइकिल, 10 कारें, 4 मीडिया के ओबी वैन और 3 बसें जला दी।

नागरिकता कानून को लेकर हो रहे प्रदर्शन की आग गुजरात के अहमदाबाद तक पहुंच गई। गुरुवार को प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की टीम को निशाना बनाते हुए पथराव किया। इस हिंसक प्रदर्शन का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें प्रदर्शन कर रहे लोगों ने पुलिसकर्मियों को पीटते दिखाई दे रहे हैं।

देशभर में हो रहे नागरिकता कानून को लेकर प्रदर्शन के बीच ओवैसी ने एक रैली का आयोजन किया है, जहां वो लोगों से शामिल होने की अपील कर रहे हैं। कहा जा रहा है कि इस रैली के सहारे ओवैसी अपनी सियासत को चमका चाह रहे हैं।

पालनपुर जिले के छपी में हजारों की तादाद में प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर गए और सड़क जाम कर दिया। हालात काबू में करने के लिए पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया।

ममता बनर्जी ने आगे कहा कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेता तब कहां थे जब स्वतंत्रता के लिए संघर्ष किया जा रहा था? यह शर्मनाक है कि हमारे अभिभावकों को दस्तावेज निकालने पड़ रहे हैं।