cbi

आईएनएक्स मीडिया केस की पड़ताल में ईडी के हाथ कुछ नए सबूत लगे हैं। इन सबूतों की रोशनी में अब ईडी पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे और सांसद कार्ति चिदंबरम को गिरफ्तार करके पूछताछ करने की कवायद में है।

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) आईएनएक्स मीडिया मामले में पी. चिदंबरम के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपनी रिपोर्ट पेश करने के लिए तैयार है।

अब सीबीआई कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा है कि, चिदंबरम की हिरासत की अवधी 30 अगस्त तक बढ़ाई जाएगी। यानी कि चिदंबरम को अभी चार दिन और हिरासत में रहना होगा।

सूत्रों के मुताबिक पी चिदंबरम ने इस सब का ठीकरा आईएएस अधिकारियों पर फोड़ दिया है। सीबीआई चिदंबरम से आईएनएक्स मीडिया को मिले एफआइपीबी अप्रूवल के बारे में पूछताछ कर रही है।

आरोप है कि इसी नेटवर्क के जरिए पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति विदेशी निवेश के नियमों में ढील करवाकर भारी हेर फेर किया करते थे। सूत्रों के मुताबिक पी चिदंबरम ने इस सब का ठीकरा आईएएस अधिकारियों पर फोड़ दिया है।

जांच से जुड़े सीबीआई के एक वरिष्ठ सूत्र ने आईएएनएस को बताया, "पांच देश यूनाइटेड किंगडम, स्विट्जरलैंड, बरमूडा, मॉरीशस और सिंगापुर को पत्र भेजा गया है। चिदंबरम और उनके बेटे के बैंक खातों से जुड़े कथित विवरणों के आधार पर शेल कंपनियों का ब्यौरा मांगा गया है।"

हाईकोर्ट ने अपने फैसले में कांग्रेस नेता को गिरफ्तारी से छूट देने से इनकार कर दिया था। न्यायमूर्ति आर. भानुमति और न्यायमूर्ति ए.एस. बोपन्ना की पीठ ने कहा कि वह उसी दिन सीबीआई रिमांड के खिलाफ चिदंबरम की याचिका पर भी सुनवाई करेंगे।

अब ईडी ने एक और बड़ी कार्रवाई करते हुए जेट एयरवेज संस्थापक नरेश गोयल पर शिकंजा कसा है। ईडी ने जेट एयरवेज केस में दिल्ली और मुंबई में नरेश गोयल के आवासीय परिसरों समेत एक दर्जन से अधिक स्थानों की तलाशी की है।

पड़ोसी देश पाकिस्तान में भी चिदंबरम की गिरफ्तारी का विरोध हो रहा है। पाक सांसद रहमान मलिक ने चिदंबरम की गिरफ्तारी को कश्मीर से जोड़कर बयान दिया है।

अदालत ने वृहस्पतिवार को ही चिदंबरम को पांच दिन (26 अगस्त तक) के लिए सीबीआई रिमांड पर भेजा है। चिदंबरम तिहाड़ जेल कब भेजे जायेंगे यह 26 अगस्त को अदालत के आदेश पर निर्भर करेगा।