Champat rai

अयोध्या(Ayodhya) के संतों ने उद्धव(Uddhav Thckeray) के अयोध्या आने पर विरोध की चेतावनी दी थी। ज्ञात हो कि शिवसेना और कंगना रनौत(Kangna Ranaut) के बीच तनातनी काफी बढ़ गई है।

अयोध्या(Ayodhya) में मंदिर निर्माण(Ram Mandir) का कार्य आगे बढ़ रहा है। शुक्रवार को परीक्षण के लिए भूमि के नीचे सौ फुट गहराई तक का पहला स्तम्भ तैयार हो चुका है।

चंपत राय(Champat Rai) ने कहा कि अयोध्या में भगवान राम का मंदिर(Ram Mandir) 36 से 40 महीने में बनकर तैयार हो सकता है। मंदिर निर्माण में एक ग्राम भी लोहे का प्रयोग नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि सभी निमंत्रण प्राप्त करने वालों को भूमि पूजन प्रांगण में सुबह 10:30 बजे तक आ जाना अनिवार्य है। इसके बाद किसी को भी किसी भी कीमत पर प्रवेश नहीं दिया जाएगा। सभी को प्रधानमंत्री के आगमन के दो घंटे पहले तक पहुंचना होगा।

राम जन्म भूमि भूजन कार्यक्रम को लेकर रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

चंपत राय ने एक वीडियो जारी करके इस बयान का खंडन किया है कि पांच अगस्‍त को कोई टाइम कैप्‍सूल जमीन के नीचे रखा जाएगा। राय ने कहा, 'समाचार आ रहा है कि 5 अगस्त को कोई टाइम कैप्सूल जमीन के नीचे रखा जाएगा। 

रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की यहां शनिवार को हुई बैठक में मंदिर निर्माण के लिए शिलान्यास की तिथि तय कर ली गई। ट्रस्ट ने शिलान्यास के लिए तीन और पांच अगस्त की तिथि तय की और इससे संबंधित प्रस्ताव पीएमओ को भेज दिया है।

अयोध्या में राम मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम फिलहाल टल गया है। भूमिपूजन टालने का यह फैसला भारत-चीन सीमा पर तनाव के चलते श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने लिया है।

रामलला के ऑनलाइन दर्शन की हर तरफ से मांग उठ रही है। ट्रस्ट तक भी यह बातें पहुंच रही हैं। इसे लेकर मंथन हो रहा है। लेकिन अभी इसे लेकर संशय है। ट्रस्ट का मानना है कि उसके पास जो भी पैसा है वह मंदिर निर्माण के लिए है।