Citizenship Amendment Act (CAA)

Delhi riots: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में फरवरी में हुए दंगों के सिलसिले में पुलिस ने जो आरोप-पत्र (चार्जशीट) दायर किया है उसमें कहा गया है कि नागरिक संशोधन कानून (CAA) के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों के दौरान भड़काऊ भाषण देने वाले नेताओं में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद (Senior Congress leader Salman Khurshid), माकपा नेता वृंदा करात (Brinda Karat) और उदित राज (Udit Raj) शामिल थे।

आरपी सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साहसिक फैसले की वजह से ही अफगानिस्तान में प्रताड़ना के शिकार सिख बंधुओं का आगमन संभव हो सका है। अगर नागरिकता संशोधन कानून नहीं बनता तो फिर पड़ोसी देशों में धार्मिक प्रताड़ना के शिकार, हिंदू, सिखों आदि को भारत में नागरिकता नहीं मिल पाती।

पुलिस प्रवक्ता के मुताबिक, "आसिफ इकबाल तन्हा को 16 दिसंबर 2019 को थाना जामिया नगर में दर्ज एफआईआर नंबर 298/19 के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है। आसिफ इकबाल तन्हा नामजद आरोपी था।"