cji

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के रिटायरमेंट के बाद आज नए सीजेआई ने शपथ ली। जस्टिस एस ए बोबडे ने आज देश के 47वें मुख्य न्यायाधीश के तौर पर शपथ ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जस्टिस बोबडे को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। 

न्यायमूर्ति शरद अरविंद बोबडे ने सोमवार को भारत के 47वें प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) के रूप में शपथ ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें शपथ दिलाई। पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई ने 18 अक्टूबर को अपने उत्तराधिकारी के तौर पर सुप्रीम कोर्ट के दूसरे सबसे वरिष्ठ न्यायाधीश न्यायमूर्ति बोबडे की सिफारिश की थी।

रंजन गोगोई ने अपने कार्याकाल के आखिरी दिन सुप्रीम कोर्ट को कवर करने वाले पत्रकारों को चिट्ठी लिखी है और उनको धन्यवाद कहा है। 

हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने इसमें कुछ नियम भी जारी किए हैं। फैसले में कहा गया है कि CJI ऑफिस एक पब्लिक अथॉरिटी है, इसके तहत ये RTI के तहत आएगा। हालांकि, इस दौरान दफ्तर की गोपनीयता बरकरार रहेगी।

अगले 24 घंटे के भीतर एक बेहद ही महत्वपूर्ण फैसला आने वाला है। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस का दफ्तर आरटीआई के दायरे में आना चाहिए या नहीं इस मुद्दे पर बुधवार को फैसला आ सकता है।

अयोध्या विवाद के संभावित फैसले व कार्तिक मेले को लेकर प्रशासन हाई अलर्ट पर है। इस सिलसिले में जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन ने पुलिस लाइन के ग्राउंड में संयुक्त बैठक की।

5 नवंबर व 7 नवंबर को प्रशासन ने स्थानीय अवकाश घोषित कर दिया है। जिलाधिकारी ने 14 कोसी परिक्रमा के  मद्देनजर  5 नवंबर का अवकाश घोषित किया है। इसी तरह  पंचकोशी यात्रा के मद्देनजर 7 नवंबर का अवकाश घोषित किया गया है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने अयोध्या मामले में फैसले से पहले कई अहम कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं। आरएसएस ने अपने प्रचारकों को अपने अपने केंद्रों पर मौजूद रहने के लिए कहा है। संघ के इस नवंबर महीने में कई कार्यक्रम प्रस्तावित हैं।

चीफ जस्टिस की अगुवाई में पांच जजों की संविधान पीठ ने 40 दिनों तक राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद मामले पर सुनवाई की। उसके बाद फैसला रिजर्व कर लिया। सुप्रीम कोर्ट इस समय दीपावली की छुट्टी पर है। 4 नवंबर को यह फिर से खुलेगा।

भारत के मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) रंजन गोगोई ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर उनके बाद जस्टिस एसए बोबडे को देश का अगला मुख्य न्यायाधीश बनाने का सिफारिश की है। यह जानकारी आधिकारिक सूत्रों ने दी है। प्रक्रिया के अनुसार, वर्तमान सीजेआई ही अगले सीजेआई की सिफारिश करता है।