CM Arvind Kejriwal

दिल्ली सरकार रेहड़ी-पटरी, फेरीवालों और हॉकर्स को व्यवसायों को फिर से शुरू करने की अनुमति देगी। कोरोना महामारी और इसके क्रमिक लॉकडाउन के चलते बड़े पैमाने पर छोटे स्तर के व्यवसाय प्रभावित हुए हैं, जिसमें रेहड़ी पटरी विक्रेता सबसे अधिक प्रभावित समूहों में से एक थे।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना संकट के बीच बड़ा फैसला लिया है। उन्होंने रोजगार के लिए की वेबसाइट लॉन्च की है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कोरोना योद्धा अरूण सिंह की शहादत पर उनके परिवार को एक करोड़ रुपये की सम्मान राशि प्रदान की। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शाम शनिवार अरुण सिंह के घर पहुंचे और उनके पिता, पत्नी और बच्चों से मुलाकात कर बात की।

दिल्ली में कोरोना वायरस के कहर के बीच एक और अस्पताल बनकर तैयार हो गया है। 700 बेड वाला अस्पताल बुराड़ी में बनकर तैयार हुआ है।

दिल्ली सरकार अब जरूरतमंदों के घर राशन की डिलीवरी करवाएगी। केजरीवाल सरकार ने यह निर्णय लागू करने का फैसला किया है। इसके तहत लोगों को राशन की दुकानों पर नहीं जाना होगा, बल्कि राशन कार्ड धारक को उसका तय राशन घर पर ही पहुंचाया जाएगा।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, "हम केंद्र सरकार समेत सबके पास गए, जिसमें एनजीओ और धार्मिक संस्थाएं भी शामिल हैं। मैं भाजपा और कांग्रेस समेत सभी पार्टियों का भी शुक्रिया अदा करता हूं।"

दिल्ली में अब तक कोरोना के करीब एक लाख मामले सामने आए हैं। इनमें से अब तक 72 हजार मरीज ठीक हो चुके हैं। यानी दिल्ली में मरीजों के ठीक होने की दर 72 प्रतिशत को पार कर गई है। वहीं अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या 6200 से घटकर अब 5100 हो गई है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा 'यह देश भर में पहला प्लाज्मा बैंक है। प्लाज्मा डोनेट करने के इच्छुक व्यक्ति 1031 नंबर पर फोन करके अपनी जानकारी दे सकते हैं। इसके अलावा 8800007722 पर व्हाट्सएप करके प्लाज्मा डोनेट करने के इच्छुक व्यक्ति अपना पंजीकरण करा सकेंगे।'

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, "दिल्ली सरकार ने यह प्लाज्मा बैंक आईएलबीएस अस्पताल में बनाने का निर्णय लिया है। केवल उपचार कर रहे डॉ या फिर अस्पताल द्वारा लिख कर देने की स्थिति में ही आईएलबीएस प्लाज्मा उपलब्ध कराएगा।"

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा 'स्वयं दिल्ली सरकार ने 6 लाख एंटीजेंन टेस्ट किट खरीदी हैं। अब कोरोना का टेस्ट कराने के लिए दिल्ली वालों को धक्के नहीं खाने पड़ रहे। सभी लैब्स में प्रतिदिन पूरी क्षमता के साथ टेस्ट हो रहे हैं।'