CM Kamalnath

हालाकि स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी करते ही अब कांग्रेस विवादों में फंस गई है। दरअसल सिख दंगो को लेकर आरोप झेल रहे है कमलनाथ को कांग्रेस की स्टार प्रचारक लिस्ट में शामिल होने के बाद विवाद खड़ा हो गया है।

मध्यप्रदेश में शराब की दुकानों का दायरा बढ़ाए जाने के फैसले के बाद से सियासी भूचाल आया हुआ है। लेटरवार चल पड़ा है, वार-पलटवार का दौर जारी है, इसमें पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और मुख्यमंत्री कमलनाथ आमने-सामने हैं।

मध्यप्रदेश में इन दिनों शराब के ठेकों को लेकर बवाल मचा हुआ है। कमलनाथ सरकार की राज्य में शराब की उपदुकान खोलने की इजाज़त की कार्यवाही पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं।

इस तरीके का धरना प्रदर्शन दुनिया का सबसे अनोखा धरना प्रदर्शन है। जिसमें तांत्रिक और मंत्र का हो रहा इस्तेमाल किया गया। यह मामला मध्य प्रदेश में अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर किया जा रहा है।

मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार छात्रों के खिलाफ असहिष्णु हो गई है। मध्य प्रदेश के माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के 23 छात्रों को निकाल दिया गया है। यह छात्र संस्थान के दो प्रोफ़ेसर की जातिवादी टिप्पणी के विरोध में धरने पर थे।

भोपाल गैस पीड़ितों के हक की लड़ाई लड़ने वाले अब्दुल जब्बार का गुरुवार की देर रात को निधन हो गया। वे बीते कुछ दिनों से बीमार थे और अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। राजधानी भोपाल स्थित यूनियन कार्बाइड फैक्टरी से दो दिसंबर 1984 की रात को रिसी जहरीली मिथाइल आइसोसाएनेट गैस ने हजारों लोगों की जान ले ली थी।

दिग्विजय सिंह के भाई और कांग्रेस विधायक ने अपनी ही सरकार पर उठाए सवाल, सीएम कमलनाथ को दी ये नसीहत

मीडिया से बात करते हुए लक्ष्मण सिंह ने कहा कि मेरा आपके माध्यम से मुख्यमंत्री कमलनाथ को एक संदेश है कि आप मजबूत मुख्यमंत्री बनकर काम करें, मजबूर मुख्यमंत्री बनकर काम मत करिए। उन्होंने कहा कि अभी तक जो प्रयास हो रहे हैं वह यह कि सरकार बचाओ, बचाओ, बचाओ।

मध्यप्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक बार फिर से मुख्यमंत्री कमलनाथ पर वार किया है। सिंधिया ने इस बार बिजली कटौती से लेकर गौशाला तक कमलनाथ को उनके वादों की याद दिलाई है।

मध्य प्रदेश के मुरैना जिले के सुमावली से कांग्रेस विधायक एदल सिंह कंसाना के बेटे पर राजस्थान पुलिस के जवानों से मारपीट कर सरकारी कामकाज मे बाधा डालने का आरोप लगाया गया है।