CM Mamta Banerjee

श्चिम बंगाल के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर कोरोनावायरस संक्रमण रोकने के लिए तय किए गए लॉकडाउन के मापदंडों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है। घोष ने कहा, मुख्यमंत्री नियमित रूप से सड़कों पर निकल रही हैं, ऐसे में जब वह खुद नियम तोड़ रही हैं, तो लोग कैसे इसका पालन करेंगे

प्रधानमंत्री को लिखे गये इस पत्र में ममता ने अपील की है कि पश्चिम बंगाल में सभी उड़ानों पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी जाये। गौरतलब है कि कोरोना के बढ़ते आंकड़ों से चिंतित ममता बनर्जी ने संक्रमण को रोकने की दिशा में एहतियातन ऐसा करने के लिए आग्रह किया है।

ममता ने सीएए और प्रस्तावित राष्ट्रव्यापी राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ कोलकाता से लगभग 550 किलोमीटर दूर उत्तर बंगाल के सिलीगुड़ी शहर में एक विशाल विरोध मार्च का नेतृत्व किया।

ममता बनर्जी ने आगे कहा कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेता तब कहां थे जब स्वतंत्रता के लिए संघर्ष किया जा रहा था? यह शर्मनाक है कि हमारे अभिभावकों को दस्तावेज निकालने पड़ रहे हैं।

पश्चिम बंगाल में नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने शुक्रवार को ट्रेन, रेलवे स्टेशन, रेलवे लाइन, टोल प्लाजा और बसों आदि को आग के हवाले कर दिया है।

चार अगस्त, 2005 को कोलकाता दक्षिण की सांसद ममता बनर्जी ने लोकसभा में बांग्लादेशी घुसपैठियों का मुद्दा उठाया था। उन्होंने कहा था कि बांग्लादेशी घुसपैठिए आपदा बन गए हैं। उन्होंने कहा था, "बांग्लादेशी भारतीय नामों के जरिए मतदाता सूची में दर्ज हो रहे हैं।

ममता बनर्जी ने ट्वीट किया कि उन्होंने असलियत सामने लाने के लिए दक्षिण बंगाल के एडीजी संजय सिंह को इस घटना की जांच की जिम्‍मदारी सौंप दी है। उनकी पार्टी के सांसद और विधायक मृतकों के परिजनों से मिलने मुर्शिदाबाद पहुंचे हैं।

वाइस चांसलर सुरंजन दास ने छात्रों से बात करने की कोशिश की। हालांकि बाबुल सुप्रियो और छात्रों के बीच तर्क-वितर्क जारी रहा। बाबुल सुप्रियो ने कहा, आप लोग मुझे भड़काना चाह रहे हैं, हंगामा कर रहे हैं।

इससे पहले जब बुधवार को ममता बनर्जी पीएम मोदी से मिलने पहुंची थी तो मुलाकात के बाद उन्होंने कहा था कि 'पीएम के साथ चर्चा अच्छी रही है। दूसरे कार्यकाल में पीएम के रूप में कार्यभार संभालने के बाद मैं उनसे नहीं मिली थी।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बुधवार को संभवत: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर सकती हैं। वह इस दौरान प्रधानमंत्री से राज्य के लंबित केंद्रीय अनुदानों और अन्य मांगों पर चर्चा कर सकती हैं।